BBC navigation

राजीव गांधी पर विज्ञापन को लेकर विवाद

 सोमवार, 20 अगस्त, 2012 को 18:01 IST तक के समाचार
राजीव गांधी पर विज्ञापन

राजीव गांधी पर लगभग हर प्रमुख समाचार पत्र में विज्ञापन दिए गए हैं

20 अगस्त भारत के पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गाँधी का जन्मदिन होता है और इस मौक़े पर लगभग हर प्रमुख अख़बार में सरकारी विभागों की ओर से 10 या उससे भी ज़्यादा विज्ञापन देकर उन्हें श्रद्धांजलि दी गई है.

विभिन्न पार्टियों के नेताओं के जन्मदिन या पुण्यतिथि के मौक़े पर इस तरह सरकारी विभागों की ओर से विज्ञापन देने का मसला पहले भी बहस का मुद्दा बन चुका है.

अब प्रमुख विपक्षी दल भारतीय जनता पार्टी ने सत्ताधारी कांग्रेस को 'सीमित ख़र्च' या समझदारी के साथ ख़र्च की बात याद दिलाई है.

पार्टी प्रवक्ता रविशंकर प्रसाद ने इस मौक़े पर कहा, "अगर समझदारी से ख़र्च करने की बात की जाती है तो पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गाँधी को जन्मदिवस की शुभकामनाएँ देना एक बेहतर तरीक़े से किया जा सकता था. सब मिलकर श्रद्धांजलिस्वरूप एक विज्ञापन देते न कि सभी अख़बारों के सभी पन्नों पर सार्वजनिक क्षेत्र के सभी उपक्रम विज्ञापनों की बाढ़ के साथ श्रद्धांजलि दे रहे हैं."

विज्ञापन

"सब मिलकर श्रद्धांजलिस्वरूप एक विज्ञापन देते न कि सभी अख़बारों के सभी पन्नों पर सार्वजनिक क्षेत्र के सभी उपक्रम विज्ञापनों की बाढ़ के साथ श्रद्धांजलि दे रहे हैं"

रविशंकर प्रसाद, भाजपा प्रवक्ता

पार्टी प्रवक्ता के अनुसार कांग्रेस को सोचना चाहिए कि क्या उनके नेता को श्रद्धांजलि देने का ये सही तरीक़ा है.

इस मौक़े पर जिन मंत्रालयों की ओर से अख़बारों में विज्ञापन दिए गए हैं उनमें पर्यटन मंत्रालय का विज्ञापन है जहाँ कहा गया है, "उन्होंने अपने सपनों के भारत को अनेकों का स्वप्निल गंतव्य बनाया. स्वप्नदर्शी की दूरदर्शिता भारत को विश्वस्तरीय पर्यटक गंतव्य में बदलना...".

इसी तरह स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय, सूचना और प्रसारण मंत्रालय, दिल्ली सरकार के पर्यावरण एवं वन विभाग, विद्युत मंत्रालय, हरियाणा सरकार, इस्पात मंत्रालय, दिल्ली सरकार के सूचना एवं प्रचार निदेशालय और आवास एवं शहरी ग़रीबी उपशमन मंत्रालय के विज्ञापन भी अख़बारों में हैं.

इन मंत्रालयों और विभागों के अलावा कांग्रेस की ओर से भी राजीव गाँधी को श्रद्धांजलि दी गई है जिसमें उनकी एक युवा तस्वीर लगी है और लिखा है- 'आपका जीवन हमारी प्रेरणा.'

इसी विषय पर और पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.