BBC navigation

वरिष्ठ माओवादी नेता सब्यासाची पांडा पार्टी से निष्कासित

 शनिवार, 11 अगस्त, 2012 को 15:20 IST तक के समाचार
माओवादी पार्टी के कार्यकर्ता

सीपीआई (माओवादी) पार्टी के कई नेता हाल में मारे गए हैं.

भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (माओवादी) ने उड़ीसा के वरिष्ठ नेता सब्यासाची पांडा को निष्कासित कर दिया है. पांडा उड़ीसा राज्य के संगठन समिति के सचिव थे.

हालाकि पांडा ने लगभग एक महीने पहले ख़ुद को पार्टी से अलग-थलग कर लिया था और उड़ीसा माओवादी पार्टी के नाम से अपनी एक अलग पार्टी बनाने की घोषणा की थी.

सीपीआई(माओवादी) के पोलितब्यूरो सदस्य और उसके मध्य क्षेत्र के प्रमुख के. सुदर्शन ऊर्फ़ आनंदर ने कहा कि पांडा को पार्टी से निष्कासित किया जा रहा है क्योंकि, ''उन्होंने पार्टी, जन क्रांति, और उड़ीसा की पीड़ित जनता के साथ विश्वासघात किया है.''

43 साल के पांडा के ऊपर सरकार ने 20 लाख रूपए की ईनामी रक़म की घोषणा की गई है. पांडा उड़ीसा के रायगढ़, गजपति, कंधमाल और गंजाल ज़िलों में सक्रिय रहते थे.

सब्यासाची पांडा

पांडा उड़ीसा में 2008 में विश्व हिंदू परिषद के नेता लक्ष्मनानंद सरस्वति की हत्या के मुख्य अभियुक्त हैं.

सरस्वति की हत्या के बाद कंधमाल में कई सांप्रदायिक दंगे हुए थे.

"पांडा को पार्टी से निष्कासित किया जा रहा है क्योंकि उन्होंने पार्टी, जन क्रांति, और उड़ीसा की पीड़ित जनता के साथ विश्वासघात किया है."

के. सुदर्शन, सीपीआई (माओवादी) के प्रवक्ता

इसके अलावा पांडा पर इसी साल मार्च महीने में दो इतालवी नागरिकों के अपहरण का भी आरोप है.

पांडा ने लगभग एक महीने पहले पार्टी के महासचिव मुपल्ला लक्ष्मण राव ऊर्फ़ गणपति को एक 16 पन्नों का ख़त लिखा था जिसमें उन्होंने कहा था कि माओवादी बिना सोचे समझे हिंसा कर रहें हैं और उनमें आम बेगुनाह लोग मारे जा रहे हैं. उन्होंने वो पत्र मीडिया को भी भेज दिया था.

पांडा ने ये भी आरोप लगाया था कि आदिवासियों का सबसे ज़्यादा शोषण माओवादी करते हैं और माओवादी पार्टी के कार्यकर्ता आदिवासी महिलाओं का यौन उत्पीड़न करते हैं.

लेकिन पार्टी ने पांडा के इन आरोपों का खंडन करते हुए कहा है कि वो सत्ताधारी वर्ग से मिल गए हैं और वो पार्टी पर बेबुनियाद इलज़ाम लगा रहे हैं.

पार्टी प्रवक्ता आनंद का कहना था कि इन मुद्दों पर सब्यासाची पांडा की राय कोई नहीं है और उन्हें अपने आचरण को सुधारने के कई अवसर दिए गए थे लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया.

माओवादी पार्टी इन दिनों नेतृत्व संकट से गुज़र रही है क्योंकि उनके कई वरिष्ठ नेता या तो पुलिस मुठभेड़ में मारे गए हैं या गिरफ़्तार कर लिए गए हैं.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

इसी विषय पर और पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.