BBC navigation

एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक विजेता गिरफ़्तार

 शुक्रवार, 15 जून, 2012 को 09:10 IST तक के समाचार

पिंकी प्रमाणिक ने 2006 के दोहा एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक जीता था.

एशियाई खेलों (2006) की स्वर्ण पदक विजेता पिंकी प्रमाणिक को गुरुवार को बलात्कार के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया.

उन पर ये आरोप भी लगाया गया है कि कि वह दरअसल महिला नहीं बल्कि पुरुष हैं.

पुलिस ने कहा कि एक महिला ने बागुयाती पुलिस स्टेशन में बलात्कार की शिकायत दर्ज कराई जिसके बाद प्रमाणिक को आज सुबह ही गिरफ्तार किया गया.

पश्चिम बंगाल पुलिस के अनुसार पिंकी प्रमाणिक के खिलाफ़ एक महिला के जरिए उत्तर-24 परगणा जिले के बागुयाती पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराने के बाद गुरूवार की सुबह गिरफ्तार किया गया.

बागुयाती पुलिस स्टेशन के एक शीर्ष अधिकारी ने कहा कि शिकायत में कहा गया था कि यह एथलीट महिला नहीं बल्कि पुरुष था और वह पिछले कुछ महीने से उससे शादी करने का वादा कर रहे थे, लेकिन बाद में उन्होंने इनकार कर दिया.

अधिकारी ने कहा कि एथलीट पिंकी ने शिकायत करने वाली महिला से धन भी लिया है.

उन्होंने कहा कि प्रमाणिक का सरकारी अस्पताल में मेडिकल चेकअप कराया जाएगा जिसके बाद उन्हें अदालत में पेश किया जाएगा.

पूर्वी रेलवे की मध्यम दूरी की धाविका ने 2006 दोहा एशियाड में चार गुणा 400 मी रिले में स्वर्ण पदक जीता था और फिर 2006 मेलबर्न राष्ट्रमंडल में भी इसी स्पर्धा का रजत पदक प्राप्त किया था.

प्रमाणिक ने कोलंबो में 2006 सैफ खेलों में 400मी, 800मी और चार गुणा 400 मी रिले स्पर्धाओं में तीन स्वर्ण पदक जीते थे.

भारतीय एथलेटिक्स महासंघ के एक अधिकारी ने कहा कि अगर साबित हो जाता है कि यह एथलीट पिंकी पुरुष है तो उनसे सारे पदक छीन लिए जाएंगे.

इससे पहले की एक घटना के अनुसार प्रमाणिक को 22 नवंबर, 2004 को शस्त्र अधिनियम के अंतर्गत नादिया जिले के हबीबपुर नाथपाड़ा गांव से गिरफ्तार किया गया था जब स्थानीय लड़कों ने पुलिस को सूचना दी थी कि उनके बैग से रिवाल्वर मिला था.

इन लड़कों ने उनका बैग छीना था.

बंगाल एथलेटिक्स के एक अधिकारी ने कहा कि मेलबर्न राष्ट्रमंडल खेलों की उपलब्धि के बाद प्रमाणिक की जांच में पुरुष हार्मोन का स्तर काफी अधिक पाया गया था.

बंगाल एथलेटिक्स के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि उनका पुरुष हार्मोन स्तर सामान्य से अधिक था.

इसके बावजूद उसने दोहा एशियाई खेलों में हिस्सा लिया, लेकिन इसके बाद उन्होंने किसी अंतरराष्ट्रीय स्तर के टूर्नामेंट में भाग नहीं लिया था.

हालांकि उन्होंने कहा कि संशोधित नियमों के अनुसार महिला एथलीट की जांच में अगर पुरुष हार्मोन का स्तर सामान्य से अधिक है तो उन्हें टूर्नामेंट में भाग लेने से रोका नहीं जाएगा.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

इसी विषय पर और पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.