BBC navigation

टीम अन्ना ने स्वतंत्र जांच की माँग की

 बुधवार, 30 मई, 2012 को 19:38 IST तक के समाचार
टीम अन्ना

अन्ना के सहयोगियों ने अपनी माँगें नहीं माने जाने पर भूख हड़ताल करने की धमकी दी है

अन्ना हजारे के सहयोगियों ने प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के अपने ऊपर लगाए गए आरोपों के बारे में बयान आने के बावजूद मनमोहन सिंह के खिलाफ़ स्वतंत्र जांच की मांग की है.

मनमोहन सिंह ने एक दिन पहले अपने और अपने कई सहयोगी मंत्रियों पर लगाए गए आरोप के बारे में कहा था कि यदि ये आरोप साबित हो जाते है तो वे सार्वजनिक जीवन से संन्यास ले लेंगे,

इसके एक दिन बाद दिल्ली में एक प्रेस सम्मेलन में अन्ना हज़ारे के सहयोगी अरविंद केजरीवाल ने कहा कि वे लोग प्रधानमंत्री पर आरोप नहीं लगा रहे है बल्कि ये बात नियंत्रक और महालेखा परीक्षक यानी सीएजी की कोयला ब्लॉक के आबंटन पर आई रिपोर्ट में सामने आ रही है.

उनका कहना था,''अगर प्रधानमंत्री पर लगे आरोप गलत साबित होते है तो हम लोगों को ये जानकार ज्यादा खुशी होगी. लेकिन वो साबित कैसे होगा? इसके लिए एक स्वतंत्र जांच एजेंसी को इस मामले की जांच करनी होगी.''

केजरीवाल ने कहा,''प्रधानमंत्री का कहना है कि जो आरोप उन पर लगाए गए हैं वो निराधार, गैरजिम्मेदराना और दुर्भाग्यपूर्ण हैं. हम उन्हें ये बताना चाहते है कि ये आरोप हमने नहीं लगाए बल्कि ये सीएजी की रिपोर्ट में है.''

केजरीवाल ने कहा कि मैं प्रधानमंत्री से सवाल पूछना चाहता हूं कि क्या वे सीएजी की रिपोर्ट को गैर-जिम्मेदराना बताएंगे जिसके अनुसार कोयला ब्लॉक के आवंटन में राजकोष को 1.80 लाख करोड़ रुपए का घाटा हुआ है.

आरोप

अन्ना हजारे के सहयोगियों ने पिछले सप्ताह प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह समेत 15 कैबिनेट मंत्रियों पर भ्रष्टाचार में लिप्त होने के आरोप लगाए थे.

कांग्रेस ने इन आरोपों को खारिज करते हुए इन्हें बेबुनियाद बताया था और कहा था कि इनका जवाब दिए जाने की कोई जरूरत नहीं है.

एक संवाददाता सम्मेलन में अन्ना के सहयोगियों प्रशांत भूषण, अरविंद केजरीवाल, शांति भूषण और किरण बेदी ने सीएजी की रिपोर्ट के मसौदे के कुछ हिस्से के आधार पर प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए जब कोयला मंत्रालय उनके पास हुआ करता था.

उन्होंने कहा कि कि वे चाहते हैं कि प्रधानमंत्री इस मामले की जाँच के लिए 24 जुलाई तक एक विशेष जाँच दल का गठन कर दें.

उन्होंने साथ ही चेतावनी दी कि अगर उनकी मांग नहीं मानी जाती है तो वो भूख हड़ताल पर चले जाएँगे.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.