2जी मामले की सुनवाई अब तिहाड़ में ही

 बुधवार, 23 नवंबर, 2011 को 09:00 IST तक के समाचार
ए राजा

ए राजा सहित सभी अभियुक्तों ने अदालत के इस फ़ैसले पर नाराज़गी जताई है

2जी स्पेक्ट्रम घोटाले की सुनवाई अब दिल्ली के पटियाला हाउस कोर्ट की बजाय अब तिहाड़ जेल में ही होगी.

दिल्ली हाईकोर्ट के आदेश से इस विशेष अदालत की सुनवाई स्थानांतरित की गई है.

पूर्व केंद्रीय मंत्री ए राजा, डीएमके सांसद कनिमोड़ी और इस मामले के दूसरे अभियुक्तों ने अदालत के इस फ़ैसले का विरोध किया है.

उनका कहना है कि तिहाड़ में कड़ी सुरक्षा है और इसकी वजह से उनके रिश्तेदार और परिचित आसानी से अदालत नहीं पहुँच सकेंगे.

2जी घोटाले मामले के अभियुक्तों को तिहाड़ जेल में ही रखा गया है.

फ़ैसला

सीबीआई के विशेष जज ओपी सैनी ने हाईकोर्ट के प्रशासनिक आदेश का हवाला देते हुए मंगलवार को कहा है कि गुरुवार से इस मामले की सुनवाई अब तिहाड़ जेल में ही होगी.

"क्या इसका अर्थ ये है कि जब तक सुनवाई पूरी नहीं हो जाती, किसी को भी ज़मानत नहीं मिलने वाली है?"

बचाव पक्ष के एक वकील

हालांकि मजीद मेमन सहित बचाव पक्ष के कई वकीलों ने ही शिकायत की थी कि पटियाला कोर्ट में जहाँ इस मामले की सुनवाई हो रही है वहाँ पर्याप्त जगह नहीं है.

उनका कहना था कि न तो यहाँ अभियुक्तों के रिश्तेदारों और परिचितों के बैठके के लिए पर्याप्त स्थान है और न ही एसी की पर्याप्त व्यवस्था है. उन्होंने अदालत की कार्रवाई विज्ञान भवन में स्थानांतरित करने की अपील की थी.

लेकिन हाईकोर्ट ने सुनवाई को तिहाड़ जेल स्थानांतरित कर दिया.

इस फ़ैसले से ज़ाहिर तौर पर सभी अभियुक्त और उनके वकील भी नाराज़ दिखे.

गत फ़रवरी से तिहाड़ जेल में बंद ए राजा ने कहा, "मैं समझ नहीं पा रहा हूँ कि इस देश में क्या हो रहा है."

कनिमोड़ी ने कहा कि इससे वकीलों को परेशानी होगी.

बचाव पक्ष के एक वकील ने इस फ़ैसले पर सवाल उठाते हुए कहा, "क्या इसका अर्थ ये है कि जब तक सुनवाई पूरी नहीं हो जाती, किसी को भी ज़मानत नहीं मिलने वाली है?"

वकीलों का तर्क था कि जिन गवाहों को पटियाला हाउस कोर्ट में बुलवाया गया है उन्हें लेकर समस्या होगी.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

इसी विषय पर और पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.