BBC navigation

विपक्ष चुनाव थोपना चाहता है: मनमोहन

 मंगलवार, 27 सितंबर, 2011 को 21:21 IST तक के समाचार
मनमोहन सिंह

मनमोहन सिंह ने माना है कि उनकी सरकार के प्रति लोगों की सोच को लेकर समस्याएँ हैं

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने राजनीतिक अस्थिरता पैदा करने की कोशिशों का आरोप लगाते हुए कहा है कि विपक्ष 'समय से पूर्व ही अधीर' हो गया है और चुनाव 'थोपना चाहता है'.

उन्होंने कहा है कि उनकी सरकार अपने पाँच साल का कार्यकाल पूरा करेगी.

अपनी न्यूयॉर्क यात्रा से वापसी के दौरान एयर इंडिया के विशेष विमान में पत्रकारों से हुई बातचीत में उन्होंने विपक्ष को धैर्य रखने की सलाह दी है.

उन्होंने स्वीकार किया कि उनकी सरकार की छवि को लेकर कुछ समस्याएँ हैं जिन्हें ठीक करना होगा.

'विफल रहा विपक्ष'

प्रधानमंत्री ने कहा कि वित्तमंत्रालय ने 2जी स्पेक्ट्रम के बारे में जो दस्तावेज़ भेजे हैं उसके बारे में मंत्रिमंडल में कोई चर्चा नहीं हुई है.

इसमें कहा गया है कि गृहमंत्री पी चिदंबरम ने वित्तमंत्री रहते हुए 2जी स्पेक्ट्रम की नीलामी के लिए पर्याप्त क़दम नहीं उठाए.

"मुझे संदेह है कि कुछ ताकतें हमारी राजनीति को अस्थिर करना चाहती हैं"

मनमोहन सिंह

इस सवाल पर कि आम घारणा है कि यूपीए-I की तुलना में यूपीए-II सरकार ने अपनी साख गँवा दी है, उन्होंने कहा, "मुझे संदेह है कि कुछ ताकतें हमारी राजनीति को अस्थिर करना चाहती हैं."

उन्होंने कहा कि यूपीए-I में कुछ नए लोग थे जो नया सोचते थे और इसका सबूत उनकी सरकार की कुछ प्रमुख योजनाएँ हैं.

प्रधानमंत्री ने कहा, "जहाँ तक यूपीए-II का सवाल है तो उस पर 2जी या और किसी चीज़ में लिप्त होने के आरोप हैं...विपक्ष को लगता है कि ये मुद्दे चुनाव से पहले उठने चाहिए थे."

उन्होंने कहा, "मुझे लगता है कि विपक्ष विफल रहा है. वे पहले चुनाव हार गए फिर उसके बाद विधानसभा के चुनाव हो गए और उसमें भी कांग्रेस की जीत हुई."

उनका कहना था, "इसलिए मुझे लगता है कि कुछ और ताक़ते हैं जो हमारे देश को अस्थिर करना चाहती हैं."

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.