बिहार में नक्सली हमला

बिहार के कुछ ज़िलों में नक्सलियों का ख़ासा आतंक है.

बिहार के रोहतास ज़िले में नक्सलियों ने शनिवार रात एक गाँव पर हमला करके तीन व्यक्तियों की हत्या कर दी.

राज्य के पुलिस महानिदेशक नीलमणि ने इस घटना में नक्सलियों द्वारा मारे गये लोगों की संख्या के बारे में 12 घंटे के अन्दर तीन बार बयान बदले.

उन्होंने मीडिया को एसएमएस भेजकर शनिवार रात मृतकों की तादाद छह,फिर रविवार सुबह पांच और अंततः रविवार दोपहर तीन बताई.

उनका कहना है कि रोहतास के पुलिस अधीक्षक ने घटनास्थल पर पहुंचकर सेटलाइट फ़ोन से जब वस्तुस्थिति की जानकारी भेजी तब मृतकों की सही संख्या का पता चला.

राज्य के पुलिस प्रवक्ता राजवर्धन शर्मा ने बताया कि ज़िले के नौहट्टा अंचल में पहाड़ी पर बसे बंडा गाँव पर हथियारबंद नक्सली दस्ते ने धावा बोल दिया था.

खरवार समुदाय के स्थानीय ग्रामीणों को नक्सलियों ने बदले की भावना से निशाना बनाया क्योंकि हाल ही इसी इलाक़े में एक शीर्ष नक्सल नेता बिरेन्द्र राणा (यादव) की हत्या हुई थी

पुलिस प्रवक्ता, बिहार

उनके मुताबिक़ '' खरवार समुदाय के स्थानीय ग्रामीणों को नक्सलियों ने बदले की भावना से निशाना बनाया क्योंकि हाल ही इसी इलाक़े में एक शीर्ष नक्सल नेता बिरेन्द्र राणा (यादव) की हत्या हुई थी.''

पुलिस का ये भी कहना है कि खरवार जाति के ही नक्सली ग्रुप की अंतर-गिरोह कार्रवाई में बिरेन्द्र राणा की मौत हुई थी.

उधर स्थानीय सूत्रों का कहना है कि शनिवार रात बंडा गाँव के जिस पूर्व मुखिया सुग्रीव खरवार के तीन परिजनों को नक्सलियों ने मौत के घाट उतार दिया, वह वहाँ नक्सलियों की हिंसक गतिविधियों को रोकने में पुलिस का सबसे बड़ा मददगार माना जाता है.

सुग्रीव खरवार के घर में आग लगा देने और उस परिवार के तीन व्यक्तियों की हत्या के बाद नक्सली दस्ते ने गाँव के जिन छह लोगों को अगवा कर लिया था, ग्रामीणों के अनुसार उनमें से किसी का पता नहीं चल पाया है.

पुलिस प्रवक्ता के अनुसार अगवा लोगों के बारे में कोई जानकारी नहीं है. इस बीच पुलिस के अनुसार सम्बंधित क्षेत्र में भारी तादाद में सुरक्षा बलों को भेजकर हमलावर नक्सलियों की तलाश शुरू कर दी गई है.

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.