सुनंदा पुष्कर ने कोच्चि टीम से किनारा किया

ललित मोदी ने कोच्चि टीम के मालिकाना स्वरुप पर सवाल उठाए थे.

शशि थरूर की महिला मित्र कही जा रही सुनंदा पुष्कर ने आईपीएल की कोच्चि टीम से किनारा कर लिया है.

उन्होंने टीम के मालिक समूह यानी रॉनडेवू कॉनसोर्टियम में अपनी हिस्सेदारी या शेयर वापस लेने की घोषणा की है लेकिन विपक्षी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने थरूर पर हमले तेज़ कर दिए हैं.

सुनंदा के वकील आशीष मेहता ने ये जानकारी दी है. उन्होंने कहा, "जो कुछ हो रहा है उससे सुनंदा काफी आहत हैं. वह अपना शेयर वापस ले रही हैं. लेकिन उन्होंने केरल क्रिकेट को अपनी शुभकामनाएँ दी हैं."

जो कुछ हो रहा है उससे सुनंदा काफी आहत हैं. वह अपना शेयर वापस ले रही हैं. लेकिन उन्होंने केरल क्रिकेट को अपनी शुभकामनाएँ दी हैं.

सुनंदा पुष्कर

सुनंदा ने कहा है कि वह शेयर वापस करने के बदले किसी तरह के मुआवज़े की माँग नहीं करेंगी.

सुनंदा पुष्कर को रॉनडेवू कॉनसोर्टियम में 70 करोड़ रूपए मूल्य के स्वेट शेयर दिए गए थे लेकिन विदेश राज्य मंत्री शशि थरूर के साथ उनके कथित संबंधों और स्वेट शेयर देने की प्रक्रिया में गड़बड़ी के आरोप लगने के बाद पूरी टीम की शेयरहोल्डिंग पर सवाल उठने लगे थे.

इस मामले में विपक्षी पार्टियाँ शशि थरूर से इस्तीफ़े की माँग कर रही हैं. रविवार को शशि थरूर ने प्रधानमंत्री से मुलाक़ात की है लेकिन माना जा रहा है कि कांग्रेस कोर ग्रुप की बैठक में ये तय किया जाएगा कि थरूर मंत्रिपरिषद में रहेंगे या नहीं.

भाजपा का आरोप

भाजपा के प्रवक्ता रविशंकर प्रसाद ने प्रेस कॉंफ़्रेंस में कहा है कि सुनंदा ने जिस तरह शेयर वापस करने की घोषणा की है कि उससे साबित होता है कि वह शशि थरूर के फ़्रंट के तौर पर काम कर रही थीं.

उन्होंने ध्यान दिलाया कि शशि थरूर ने संसद में दिए बयान में कहा था कि सुनंदा ने बिल्कुल निजी तौर पर व्यावसायिक फ़ैसला किया है लेकिन अब वह शेयर वापस क्यों कर रही हैं.

उन्होंने स्वेट शेयर जारी करने की प्रणाली पर भी सवाल उठाए. उन्होंने कंपनी क़ानून का हवाला देते हुए कहा कि किसी व्यक्ति को स्वेट शेयर एक साल बाद मिल सकता है लेकिन सुनंदा को तुरंत दे दिए गए.

रविशंकर प्रसाद ने कहा कि भाजपा थरूर पर लगाए गए आरोपों पर कायम है और उन्हें इस्तीफ़ा दे देना चाहिए.

BBC navigation

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.