भोजपुरी सुपरस्टारों को बॉलीवुड का मोह नहीं

  • 19 अगस्त 2014
दिनेश लाल यादव, रवि किशन और मनोज कुमार

बॉलीवुड की चमचमाती दुनिया में क़िस्मत आज़माने के लिए भारत के विभिन्न हिस्सों से कलाकार आते हैं लेकिन भोजपुरी फ़िल्मों के कलाकार यहां ज़्यादा नहीं आते.

सिर्फ़ रवि किशन ही ऐसे कलाकार हैं जो बॉलीवुड में फ़िल्म करते दिखाई देते हैं.

आइए जानते हैं भोजपुरी फ़िल्मों के हिट कलाकारों से कि वो क्यों बॉलीवुड का रुख़ नहीं करते.

निरहुआ

दिनेश लाल यादव भोजपुरी फ़िल्मों के सुपर स्टार हैं, जिन्हें उनके फ़ैंस उनकी फ़िल्म "निरहुआ रिक्शा वाला" के बाद से निरहुआ ही कहने लगे.

निरहुआ को भोजपुरी फ़िल्मों में नौ साल हो गए हैं और उन्होंने कभी बॉलीवुड की तरफ़ क़दम नहीं बढ़ाए.

दिनेश लाल यादव

वो कहते हैं, "मुझे भोजपुरी फ़िल्मों से फ़ुर्सत ही नहीं मिली कि बॉलीवुड के बारे में सोचूं. मुझे बीच में दो बॉलीवुड फ़िल्मों का प्रस्ताव भी आया लेकिन वो मेरे मन मुताबिक नहीं थी तो मैंने मना कर दिया."

निरहुआ कहते हैं, "भोजपुरी फ़िल्मों को लेकर दर्शकों में बहुत दीवानगी हैं. मेरी फ़िल्म "निरहुआ हिन्दुतानी" जब रिलीज़ हुई, तब उसी के बाद कई बॉलीवुड और हॉलीवुड फ़िल्म भी रिलीज़ हुई और आज भी बिहार में निरहुआ हिंदुस्तानी चल रही है."

रिंकू घोष

रिंकू घोष

भोजपुरी फ़िल्मों की जानी मानी अभिनेत्री रिंकू घोष ने 50 से भी ज़्यादा फ़िल्में की और उन्हें इस इंडस्ट्री में 10 साल हो गए हैं.

उन्होंने कभी बॉलीवुड की तरफ रुख़ नहीं किया क्योंकि उन्हें छोटे शहर का बनकर रहना मंज़ूर है लेकिन बड़े शहर में आकर गुम हो जाना नहीं.

संजय कुमार पाण्डेय

संजय कुमार पाण्डेय

भोजपुरी फ़िल्मों के जाने माने विलेन अभिनेता संजय कुमार पाण्डेय कहते हैं, "भोजपुरी फ़िल्मों से बॉलीवुड में कोई नहीं गया लेकिन बॉलीवुड से भोजपुरी में कई लोग आए."

वो कहते हैं, "मुझे इस बात का ज़रा भी अफ़सोस नहीं है कि पूरा हिंदुस्तान मुझे नहीं जानता लेकिन उत्तेर प्रदेश, बिहार और मुंबई के लोग तो मुझे बहुत अच्छे से जानते हैं. मुझे लोग भोजपुरी सिनेमा का अमरीश पुरी कहते हैं."

सीमा सिंह

सीमा सिंह

सीमा सिंह भोजपुरी फ़िल्मों की वो अभिनेत्री हैं जिन्होंने 300 से ज़्यादा आइटम नंबर किए हैं और उन्हें इस इंडस्ट्री में नौ साल हो गए हैं.

वो बॉलीवुड के बारे में कहती हैं, "भोजपुरी फ़िल्म इंडस्ट्री में मेरा बहुत नाम है. आज उत्तर प्रदेश, बिहार की ऑडियंस पूरे भारत में है तो मेरी पहचान भी उतनी है और मैं बॉलीवुड में अपना सफ़र फिर से ज़ीरो से शुरू नहीं करना चाहती."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार