BBC navigation

हम कलाकार थे, बॉडी बिल्डर नहीं: गोविंदा

 रविवार, 27 अप्रैल, 2014 को 09:26 IST तक के समाचार
गोविंदा

अभिनेता गोविंदा हैरान हैं मौजूदा दौर के कलाकारों की 'कड़ी मेहनत' से.

अमरीका के टैंपा बे में हुए आइफ़ा समारोह में गोविंदा भी पहुंचे और मीडिया से मुख़ातिब होते हुए उन्होंने कहा, "अच्छा लगता है जब आज भी लोग मेरा काम पसंद करते हैं. लेकिन इस दौर के कलाकारों की बात करें तो मैं उन्हें बेहद मेहनती पाता हूं."

क्लिक करें (प्रियंका के पास गोविंदा के लिए वक़्त नहीं ?)

"उनमें से कई बहुत धनी परिवार से आए हैं लेकिन मेहनत करने में वो ज़रा भी कोताही नहीं बरतते."

'सिर्फ़ एक्टिंग पर देते थे ध्यान'

50 वर्षीय गोविंदा क़रीब 180 फ़िल्मों में काम कर चुके हैं. वो मानते हैं कि जब उन्होंने करियर शुरू किया तो उस दौर में कलाकारों को सिर्फ़ अभिनय पर ही ध्यान देना होता था.

क्लिक करें (गोविंदा के 25 साल)

"रणवीर सिंह, वरुण धवन और दूसरे युवा कलाकार कितनी मेहनत करते हैं. हमने कभी इतनी मेहनत नहीं की."

"हमारे दौर में हम सिर्फ़ कलाकार थे. बॉडी बिल्डर नहीं. लेकिन इस दौर के कलाकारों को देखिए. क्या कमाल का शरीर है. क्या फ़िटनेस है."

सेक्स कॉमेडी पर राय

गोविंदा, लारा दत्ता, डेविड धवन

गोविंदा ने 'कुली नंबर 1', 'हीरो नंबर 1', 'आंखे', 'दुल्हे राजा' समेत कई हिट कॉमेडी फ़िल्में दी हैं.

मौजूदा दौर में 'क्या सुपरकूल हैं हम' और 'ग्रैंड मस्ती' जैसी सेक्स कॉमेडी पर उनकी क्या राय है ?

क्या वो ख़ुद कभी ऐसी फ़िल्में करेंगे ?

इसके जवाब में गोविंदा ने कहा, "मुझे अपनी पत्नी सुनीता से पूछना पड़ेगा. लेकिन मैं हर तरह की फ़िल्मों को लेकर खुला हूं. मेरा मक़सद है लोगों के चेहरों पर मुस्कान लाना. कॉमेडी, कॉमेडी होती है."

'नंबर गेम में यक़ीन नहीं'

गोविंदा, सुनीता, नर्मदा

(गोविंदा अपनी पत्नी सुनीता और बेटी नर्मदा के साथ)

गोविंदा ने 90 के दशक में कई सुपरहिट फ़िल्में दीं. वो काफी कामयाब हीरो रहे हैं लेकिन कभी उन्हें नंबर एक का दावेदार नहीं माना गया.

इसके जवाब में वो कहते हैं, "मेरा नंबर गेम में कभी विश्वास ही नहीं रहा. एक कलाकार को हमेशा ईमानदारी से अपना काम करते रहना चाहिए. मैं इतने साल से इंडस्ट्री में हूं, यही मेरी सबसे बड़ी उपलब्धि है."

"अब क्लिक करें मेरी बेटी और बेटा भी फ़िल्मों में आने वाले हैं. उम्मीद करता हूं कि जो प्यार मुझे मिला वही उन्हें भी मिलेगा."

(बीबीसी हिंदी के क्लिक करें एंड्रॉइड ऐप के लिए क्लिक करें यहां क्लिक करें. आप बीबीसी हिंदी के क्लिक करें फ़ेसबुक और क्लिक करें ट्विटर से भी जुड़ सकते हैं)

इसे भी पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.