सलमान और संगीता: अब भी है याराना

  • 21 फरवरी 2014
सलमान ख़ान और संगीता बिजलानी

सलमान ख़ान की अब भी है दोस्ती बरक़रार अपनी पुरानी गर्लफ़्रेंड संगीता बिजलानी से, शाहरुख़ ख़ान के क्यों निकल पड़े आंसू और नवाज़ुद्दीन सिद्दीक़ी के 'बढ़ गए भाव'. पढ़िए ख़बरें मुंबई डायरी में.

90 के दशक में सलमान ख़ान और उनकी तत्कालीन गर्लफ़्रेंड संगीता बिजलानी की दोस्ती के चर्चे मीडिया की सुर्खियां हुआ करते थे. लेकिन जल्द ही ये रिश्ता टूट गया.

(परिणीति के साथ कहां चल पड़े सलमान)

संगीता, सलमान की गर्लफ़्रेंड तो अब नहीं हैं लेकिन इऩ दोनों की दोस्ती अब भी बरक़रार है.

हाल ही में सलमान ने अपने घर पर कुछ दोस्तों को बुलाया और संगीता भी इस पार्टी में शामिल हुईं. संगीता, सलमान के परिवार वालों के साथ डिनर करके देर रात उनके घर से निकलीं.

इस पार्टी में फ़िल्म'जय हो' की हीरोइन डेज़ी शाह भी पहुंची थीं.

ग़ौरतलब है कि चैट शो'कॉफ़ी विद करण' में सलमान ख़ान ने संगीता बिजलानी के साथ अपने रिश्ते की बात खुलकर की थे और ये तक बताया था कि दोनों शादी करने के बिलकुल क़रीब पहुंच गए थे और शादी के कार्ड तक छप गए थे. लेकिन किन्हीं वजहों से ये रिश्ता नहीं हो पाया.

रो पड़े शाहरुख़ ख़ान

शाहरुख़ ख़ान

हाल ही में अपनी आईपीएल टीम कोलकाता नाइट राइडर्स पर बनी एक डॉक्यूमेंट्री के कुछ हिस्से देखकर शाहरुख़ ख़ान रो पड़े. जल्द ही इस डॉक्यूमेंट्री का प्रसारण एक चैनल पर होगा.

(शाहरुख़, माधुरी और रानी की तिकड़ी)

शाहरुख़ ने मीडिया से बात करते हुए कहा, "मैं अपनी भावनाओं पर काबू नहीं रख पाया. मैं अपनी टीम के सदस्यों को धन्यवाद देता हूं. जब हमने आईपीएल का ख़िताब जीता था तब मेरे लिए बहुत बड़ा क्षण था."

शाहरुख़ ने ये भी बताया कि जब एक दफ़ा उनकी टीम लगातार नौ मैच हारी तो वो काफ़ी दुखी भी हुए थे लेकिन उन्होंने अपनी तक़लीफ़ ज़ाहिर नहीं होने दी.

वो बोले, "मैं जानता था कि हमारे खिलाड़ी जान-बूझकर तो हारे नहीं. सबने कोशिश की."

शाहरुख़ ख़ान की रेड चिलीज़ एंटरटेनमेंट और जूही चावला ने मिलकर साल 2008 में आईपीएल की कोलकाता नाइट राइडर्स टीम ख़रीदी थी. साल 2012 में इसने गौतम गंभीर की कप्तानी में आईपीएल का ख़िताब जीता था.

नवाज़ुद्दीन सिद्दीक़ी के 'बढ़ गए भाव'

नवाज़ुद्दीन सिद्दीक़ी, निहारिका सिंह

कई फ़िल्मों में अपने अभिनय के लिए समीक्षकों की वाहवाही हासिल करने के बाद अभिनेता नवाज़ुद्दीन सिद्दीक़ी ने कथित तौर पर अपनी फ़ीस बढ़ा दी है. साथ ही उनकी पहली प्राथमिकता सोलो लीड वाली फ़िल्में हैं.

नवाज़ुद्दीन ने कम फ़ीस की वजह से 'बंगिस्तान' और 'भूतनाथ रिटर्न्स' जैसी फ़िल्मों के प्रस्ताव ठुकरा दिए हैं.

हाल ही में उनकी फ़िल्म 'मिस लवली' रिलीज़ हुई थी, जिसे समीक्षकों ने तो सराहा था लेकिन टिकट खिड़की पर फ़िल्म नाकामयाब हो गई थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं)