BBC navigation

'मिस लवली' देखकर रिश्तेदारों ने भला-बुरा कहा: निहारिका

 सोमवार, 27 जनवरी, 2014 को 19:03 IST तक के समाचार
नवाज़ुद्नी सिद्दीक़ी, निहारिका सिंह

पिछले सप्ताह रिलीज़ हुई फ़िल्म 'मिस लवली' की हीरोइन निहारिका सिंह को भारत में लोगों के फ़िल्मों को लेकर रवैये से ख़ासी दिक़्कत है.

क्लिक करें 'मिस लवली' को कई अंतरराष्ट्रीय फ़िल्म समारोहों में बहुत वाहवाही मिली और समीक्षकों ने भी फ़िल्म को काफ़ी सराहा. लेकिन फ़िल्म को बॉक्स ऑफ़िस पर कामयाबी नहीं मिल पाई.

इसे रिलीज़ होने के लिए वितरक भी बड़ी मुश्किल से मिले. निहारिका सिंह ने बीबीसी से ख़ास बातचीत में इस बात पर काफ़ी अफ़सोस जताया.

'ग़लत सोच'

उन्होंने कहा, "यहां लोग सिर्फ़ पैसे के बारे में ही सोचते हैं. फ़लां फ़िल्म ने ढेर सारे पैसे बनाए तो वो अच्छी. ये फ़िल्म पैसे नहीं कमा पाई तो बुरी. मुझे ऐसी बातें बहुत बोर करती हैं. फ़िल्मों की क़्वालिटी की कोई बात ही नहीं करता."

निहारिका के मुताबिक़ लोग 'लव ऑफ़ सिनेमा' की वजह से यहां फ़िल्में ही नहीं बनाते.

'मिस लवली' में निहारिका ने एक संघर्षरत एक्ट्रेस का किरदार निभाया है जो सेमीपॉर्न फ़िल्मों में काम करती है.

'दोस्तों ने मना किया'

नवाज़ुद्नी सिद्दीक़ी, निहारिका सिंह

उन्होंने कहा, "मेरे दोस्तों ने मुझे ये फ़िल्म करने से साफ़ मना कर दिया. उन्होंने कहा कि मेरी इमेज ख़राब हो जाएगी. ये एक सी ग्रेड की सेक्स फ़िल्म बन कर रह जाएगी. लेकिन मैंने किसी की ना सुनी. मैं सबसे कहती रही कि यार तुम्हें पता भी है कि फ़िल्म की स्क्रिप्ट कितनी दमदार है. लेकिन किसी की समझ में ये बात आई ही नहीं."

निहारिका ने ये भी बताया कि उनके रिश्तेदार भी फ़िल्म देखकर परेशान हो गए. उन्होंने कहा, "मेरे मामा-मामी फ़िल्म देखने गए और आधी फ़िल्म छोड़कर आ गए. उन्होंने मुझसे कहा कि कैसी अजीब फ़िल्म है. हमें अच्छी नहीं लगी."

निहारिका के मुताबिक़ 'मिस लवली' को देखकर लोगों की प्रतिक्रिया दो तरह से सामने आई. लोगों को या तो फ़िल्म बहुत अच्छी लगी या लोगों ने इसे बिलकुल ही नकार दिया.

दो तरह की प्रतिक्रिया

मिस लवली

"कुछ लोगों ने फ़िल्म को प्यार किया और कुछ लोगों ने नफ़रत की. ये कोई ऐसी फ़िल्म नहीं थी जिसे लोग कहें कि यार ठीक-ठाक फ़िल्म थी. इसे लेकर लोगों की प्रतिक्रिया जुनूनी किस्म की थी."

फ़िल्म के हीरो क्लिक करें नवाज़ुद्दीन सिद्दीक़ी के बारे में उन्होंने कहा, "जब फ़िल्म बननी शुरू हुई तो ना वो मुझे जानते थे ना मैं उन्हें. हम दोनों ही एक दूसरे के बारे में सोचा करते थे. यार ये है कौन ? एक्टिंग आती भी है या नहीं. लेकिन बाद में मैंने जाना कि कितने बेहतरीन अदाकार हैं नवाजु़्द्दीन."

निहारिका ने बताया कि आगे भी वो ऐसी ही फ़िल्में करती रहेंगीं जो लोगों के दिलो-दिमाग को झंझोड़ कर रख दें.

(बीबीसी हिन्दी के क्लिक करें एंड्रॉएड ऐप के लिए क्लिक करें यहां क्लिक करें. आप हमें क्लिक करें फ़ेसबुक और क्लिक करें ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

इसे भी पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.