BBC navigation

तनीशा से नाराज़ काजोल और अजय देवगन?

 मंगलवार, 26 नवंबर, 2013 को 13:11 IST तक के समाचार
'बिग बॉस'

तनीशा से क्यों नाराज़ हैं उनकी बहन काजोल और अजय देवगन, 40 के दशक की बॉम्बे टॉकीज़ होगी पुनर्जीवित और दीपिका से क्यों हैरान हुए उनके मां-बाप. पढ़िए ख़बरें मुंबई डायरी में.

ख़बरें हैं कि रियलिटी शो 'बिग बॉस' में प्रतियोगी अरमान कोहली और तनीशा मुखर्जी की कथित नज़दीकियों से तनीशा की बहन काजोल और उनके जीजा अजय देवगन बेहद नाराज़ हैं.

क्लिक करें ('गब्बर' की बेटी)

ख़बरें तो ये भी हैं कि शो के दौरान तनीशा एक दफ़ा अपनी मां तनूजा से फ़ोन पर बात करना चाहती थीं लेकिन तनूजा ने साफ़ इनकार कर दिया.

ख़ुद अजय देवगन कई बार कथित तौर पर कलर्स चैनल से अनुरोध कर चुके हैं कि तनीशा को शो से बाहर किया जाए, लेकिन सूत्रों के मुताबिक़ चैनल ऐसा करने के लिए तैयार नहीं क्योंकि तनीशा और अरमान की वजह से बिग बॉस की लोकप्रियता बढ़ रही है.

पुनर्जीवित होगी बॉम्बे टॉकीज़

30 के दशक में मशहूर फ़िल्म स्टूडियो बॉम्बे टॉकीज़ को फिर से ज़िंदा करने की तैयारियां चल रही हैं.

इसे शुरू किया था हिमांशु राय, राजनारायण दुबे और देविका रानी ने और इसके बैनर तले कई नामचीन फ़िल्में बनाई गईं, जिनमें दिलीप कुमार, देव आनंद, मधु बाला और किशोर कुमार सरीखे कलाकारों ने काम किया.

क्लिक करें ('मत देखो बिग बॉस')

लेकिन बाद में आर्थिक हालात ख़राब होने की वजह से यह स्टूडियो बंद हो गया था.

अब राजनारायण दुबे के पोते अभय कुमार इस 80 साल पुराने प्रोडक्शन हाउस को फिर से शुरू करना चाहते हैं और इसके बैनर तले फिर से फ़िल्में बनाएंगे.

दीपिका से हैरान मां-बाप

'राम-लीला'

संजय लीला भंसाली की फ़िल्म क्लिक करें 'गोलियों की रास-लीला राम-लीला' में दीपिका पादुकोण के अभिनय को देखकर उनके मां-बाप हैरान हैं.

दीपिका के मुताबिक़ उनकी एक्टिंग से उनके मां-बाप इतने प्रभावित हुए कि उन्हें यक़ीन ही नहीं हो रहा है कि यह दीपिका ही हैं.

यह साल वैसे भी दीपिका के लिए बेहतरीन रहा है.

उनकी 'ये जवानी है दीवानी', 'चेन्नई एक्सप्रेस' और 'रेस-2' जैसी फ़िल्मों ने 100 करोड़ रुपए से ऊपर का कारोबार किया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए क्लिक करें यहां क्लिक करें. आप हमें क्लिक करें फ़ेसबुक और क्लिक करें ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

इसे भी पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.