रोमांटिक हीरो हूँ लेकिन एक्शन ज़्यादा पसंद: शाहरुख़

  • 2 अगस्त 2013
शाहरुख़ ख़ान, दीपिका पादुकोण

अपनी फिल्म 'चेन्नई एक्सप्रेस' के प्रमोशन के लिए शाहरुख़ ख़ान कोई कोर कसर नहीं छोड़ना चाहते. इसी सिलसिले में वो ब्रिटेन भी पहुंचे.

इस मौके पर फिल्म की अभिनेत्री दीपिका पादुकोण के साथ शाहरुख़ ख़ान ने की बीबीसी से ख़ास बातचीत फिल्मों से लेकर आईपीएल तक और अपने नवजात शिशु के बारे में भी.

एक्शन रोल करना पसंद

शाहरुख़ ख़ान, दीपिका पादुकोण

शाहरुख़ ख़ान को भले ही दुनिया बेहतरीन रोमांटिक हीरो मानती हो पर वे ख़ुद एक्शन फ़िल्में ज़्यादा पसंद करते हैं.

उन्होंने अपनी नई एक्शन फिल्म 'चेन्नई एक्सप्रेस' के बारे में बातें करते हुए कहा कि इस फिल्म में बहुत सारा एक्शन है और वो बहुत वास्तविक है.

(सलमान पर शाहरुख़ की प्रतिक्रिया)

शाहरुख़ का कहना था, "सच कहूँ तो मुझे एक्शन फिल्में और एक्शन रोल्स बेहद पसंद हैं. जब लोग मुझसे पूछते हैं कि मुझे एक्शन पसंद है या रोमांटिक फिल्में तो मैं हमेशा कहता हूँ कि मुझे एक्शन पसंद है."

"हालाँकि मुझे ज़्यादा मौक़ा नहीं मिला एक एक्शन हीरो बनने का लेकिन जब भी मुझे मौका मिलता है कोई एक्शन फिल्म करने का तो मैं ऐसे रोल्स करने के लिए हमेशा तैयार रहता हूँ."

शाहरुख़ ख़ान, दीपिका पादुकोण

फिल्मों के अलावा शाहरुख़ की रूचि खेलों में है और वो आईपीएल की कोलकाता नाइट राइडर्स टीम के सह मालिक भी हैं.

आईपीएल में स्पॉट फिक्सिंग के ताज़ा विवाद पर वे अफसोस ज़ाहिर करते हैं लेकिन साथ ही कहते हैं कि क्रिकेट से उनका रिश्ता व्यापार का नहीं बल्कि जुनून का है. इसीलिए इन तमाम विवादो के बाद भी वे कभी अपना रिश्ता आईपीएल से नहीं तोड़ेंगे.

बॉलीवुड को दोष देना ग़लत

चेन्नई एक्सप्रेस

समाज में महिलाओं के साथ हो रहे अत्याचार को रोकने में बॉलीवुड की क्या भूमिका हो सकती है?

इसके जवाब में शाहरुख़ कहते हैं, "फिल्में समाज का दर्पण होती हैं लेकिन हर फिल्म में हर चीज़ को अच्छी तरह से नहीं दिखाया जाता. जहाँ तक बॉलीवुड की बात करें तो यहां पर महिलाओं और पुरुषों के बीच पहले से ही समानता है. लेकिन मुझे लगता है कि ज़बरदस्ती संदेश देने के लिए फिल्में बनाना ग़लत है. किसी को वाकई अंदर से कुछ महसूस होता है तो ठीक है. लेकिन ज़बरदस्ती नहीं होनी चाहिए."

चेन्नई एक्सप्रेस

शाहरुख़ के साथ मौजूद दीपिका पादुकोण कहती हैं, "मुझे लगता है फ़िल्में मनोरंजन के लिए बनती हैं. समाज में जब भी कुछ ग़लत होता है तो मुझे समझ नहीं आता कि लोग बॉलीवुड को क्यों दोष देते हैं. हम लोगों के मनोरंजन के लिए फ़िल्में बनाते हैं. हम पर दोष डालना या कुछ बदलने की उम्मीद करना बेकार है."

चेन्नई एक्सप्रेस

जाते-जाते शाहरुख़ बात पूरी करते हुए कहते हैं, "पिछले दिनों मैं एक टीवी शो देख रहा था जिसमें कहा गया कि बलात्कार या महिलाओं के प्रति ग़लत बातों के लिए बॉलीवुड ज़िम्मेदार है. ये बकवास बात है."

अपने नवजात शिशु के बारे में शाहरुख़ कहते हैं कि वो बहुत सुंदर है और दिन-प्रतिदिन तंदुरुस्त होता जा रहा है.

(शाहरुख़ ख़ान के साथ हुई इस बातचीत का छोटा हिस्सा आप हमारी वेबसाइट पर देख भी सकते हैं)

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)