BBC navigation

शाहरुख़ के ख़िलाफ़ लिंग परीक्षण मामले में जाँच

 मंगलवार, 18 जून, 2013 को 18:52 IST तक के समाचार
शाहरुख खान और गौरी खान

शाहरुख और गौरी के फिलहाल दो बच्चे हैं

क्या बॉलीवुड अभिनेता शाहरुख़ ख़ान और उनकी पत्नी को मालूम है कि उनके यहाँ बेटा पैदा होने वाला है? जन्म से पहले लिंग परीक्षण पर प्रतिबंध को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी इस मामले की जाँच कर रहे हैं.

महाराष्ट्र में स्वास्थ्य मंत्री सुरेश शेट्टी ने अधिकारियों से कहा है कि वो शाहरुख खान से जुड़े मामले की छानबीन करें. सरकार ने देश में कन्या भ्रूण हत्या के बढ़ते मामलों को देखते हुए लिंग परीक्षण को अपराध घोषित किया है.

एक मेडिकल एसोसिएशन ने मंत्रालय को इस बारे में पत्र लिख कर जाँच की माँग की थी.

शाहरुख़ ख़ान और उनकी पत्नी की तरफ से गर्भावस्था या लिंग परीक्षण के बारे में कोई टिप्पणी नहीं आई है.

'ताकि सच आए सामने'

शेट्टी ने पुष्टि की है कि उनके मंत्रालय को इंडियन रेडियोलॉजी एंड इमेजिंग एसोसिएशन (आईआरआईए) की तरफ से एक ईमेल मिला है, जिसके बाद उन्होंने अपने अधिकारियों को जांच कर रिपोर्ट सौंपने को कहा है.

"हम जांच की मांग कर रहे हैं ताकि सच सामने आए. हम जानना चाहते हैं कि किसने किससे क्या कहा."

आईआरआईए

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि अगर जरूरी हुआ तो इस मामले में 'उचित कार्रवाई' की जाएगी.

आईआरआईए के प्रवक्ता ने बीबीसी को बताया, “हम जाँच की माँग कर रहे हैं ताकि सच सामने आए. हम जानना चाहते हैं कि किसने किससे क्या कहा?”

शाहरुख़ ख़ान और गौरी ख़ान के फिलहाल एक बेटी और एक बेटा हैं.

अब तक वो मीडिया की इन ख़बरों पर टिप्पणी करने से इनकार करते रहे हैं जिनके अनुसार सरोगेट मदर (किराए की कोख) के जरिए उनके घर में तीसरा बच्चा आने वाला है और वो इस बात को जानते हैं कि वह बेटा होगा.

संवाददाताओं के अनुसार हो सकता है कि ये मीडिया खबरें गलत हों या फिर शाहरुख़ और उनकी पत्नी ने ऐसे किसी देश में अल्ट्रासाउंड कराया हो जहाँ ये गैर-कानूनी नहीं है.

आईआरआईए के प्रवक्ता का कहना है कि उनकी चिंता इस बात को लेकर है कि अगर जन्म से पहले लिंग परीक्षण पर रोक है तो ये नियम सब पर लागू होना चाहिए, चाहे वो अमीर हो या गरीब.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप क्लिक करें यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें क्लिक करें फ़ेसबुक और क्लिक करें ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

इसे भी पढ़ें

टॉपिक

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.