BBC navigation

रफ़ी के 'यमला पगला दीवाना' रिकॉर्ड करने का क़िस्सा

 बुधवार, 12 जून, 2013 को 07:12 IST तक के समाचार
मोहम्मद रफ़ी

फिल्म प्रतिज्ञा का गाना 'मैं जट यमला पगला' दीवाना मोहम्मद रफ़ी ने गाया था.

पिछले हफ्ते धर्मेंद्र, सनी देओल और बॉबी देओल की फिल्म 'यमला पगला दीवाना-2' रिलीज़ हुई.

क्लिक करें (यमला पगला दीवाना-2 की समीक्षा)

इस फिल्म का नाम साल 1975 में रिलीज़ हुई धर्मेंद्र की ही फिल्म 'प्रतिज्ञा' के गाने 'मैं जट यमला पगला दीवाना' से प्रेरित है. जिसका संगीत मशहूर जोड़ी लक्ष्मीकांत प्यारेलाल ने दिया था और इसे गाया था मोहम्मद रफ़ी ने. इस गाने को लिखा था आनंद बक्शी ने.

क्लिक करें (धर्मेंद्र का सफर)

लेकिन क्या आपको पता है कि इस सुपरहिट गाने को कैसे रिकॉर्ड किया गया था. ये बताया बीबीसी को ख़ुद संगीतकार जोड़ी लक्ष्मीकांत प्यारेलाल के प्यारेलाल ने.

ऐसे हुई रिकॉर्डिंग

फिल्म 'प्रतिज्ञा' का गाना 'मैं जट यमला पगला दीवाना' धर्मेंद्र पर फिल्माया गया था.

प्यारेलाल ने बताया कि इस गाने की रिकॉर्डिंग के वक़्त मोहम्मद रफ़ी को विदेश दौरे पर जाना था. वो हर साल मई में डेढ़ महीने के लिए विदेश यात्रा पर जाते थे. उनके जाने में सिर्फ एक ही दिन बचा था.

तब प्यारेलाल ने रफी से पूछा, "क्या आप बीच में वापस आकर गाना रिकॉर्ड कर सकते हो." इसके जवाब में मोहम्मद रफ़ी ने कहा, "नहीं. मैं बीच में नहीं आ सकता. आपको जो रिकॉर्डिंग करवानी है. अभी करवा लीजिए."

क्लिक करें (सबसे लोकप्रिय गाना)

तब लक्ष्मीकांत प्यारेलाल ने फैसला किया कि सभी बची हुई रिकॉर्डिंग एक ही दिन में करानी पड़ेगी.

प्यारेलाल ने बीबीसी को बताया, "हमने 'मैं जट यमला पगला दीवाना' समेत पांच गाने एक साथ रफी साहब से रिकॉर्ड कराए. और रफी साहब ने इतना कम वक़्त होते हुए भी हर गाने को पूरा मन लगाकर तन्मयता से गाया. और 'मैं जट यमला पगला दीवाना' तो सुपरहिट साबित हुआ."

क्लिक करें (गाने जो आपका मूड बदल दें)

प्यारेलाल बताते हैं कि गायक मोहम्मद रफी उस दिन सुबह 10 बजे रिकॉर्डिंग के लिए आए और अगले दिन सुबह तीन बजे तक रिकॉर्डिंग करते रहे. फिर सुबह छह बजे वो फ्लाइट पकड़कर विदेश दौरे के लिए गए. प्यारेलाल कहते हैं, "इतना समर्पण, इतनी लगन भला कहां देखने को मिलती है."

क्लिक करें (लता मंगेशकर ने शादी क्यों नहीं की)

प्यारेलाल बताते हैं कि अभिनेता धर्मेंद्र के साथ उनकी और लक्ष्मीकांत की ख़ासी मित्रता थी. और धर्मेंद्र की ज़्यादातर फिल्मों में उन्हीं का संगीत हुआ करता था.

(बीबीसी हिन्दी के क्लिक करें एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक करें क्लिक कर सकते हैं. आप हमें क्लिक करें फ़ेसबुक और क्लिक करें ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

इसे भी पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.