मुन्नाभाई को हाँ कहने में निर्देशक ने लिए 20 दिन

  • 5 मार्च 2013
सुभाष कपूर, निर्देशक
मुन्नाभाई चले दिल्ली का निर्देशन सुभाष कपूर करेंगे.

बॉलीवुड में मुन्नाभाई एक ऐसा ब्रांड है जिससे हर कोई जुड़ना चाहता है.

विधु विनोद चोपड़ा, राजकुमार हिरानी और अभिजात जोशी ने मिलकर 'मुन्नाभाई एमबीबीएस' और 'लगे रहो मुन्नाभाई' जैसी सुपरहिट फिल्म बनाई और अब इस टीम में सुभाष कपूर भी शामिल हो गए हैं.

अपनी फिल्म 'फंस गए रे ओबामा' और अब 'जॉली एलएलबी' के साथ चर्चा में आए सुभाष कपूर ने बीबीसी को बताया कि मुन्नाभाई की तीसरी फिल्म के निर्देशन के लिए हां बोलना आसान नहीं था.

'मुन्नाभाई चले दिल्ली' का निर्देशन करने जा रहे सुभाष कहते हैं, "जब ऐसा कुछ ऑफर मिलता है तो दो ही रास्ते होते हैं या तो आप उछल कर हाँ बोल देते हैं या सोचते हैं कि हाँ इसलिए बोलूँ कि ये मुन्नाभाई है या फिर क्या वाकई में मेरे पास कोई कहानी है जो मैं मुन्ना और सर्किट को लेकर कह सकता हूं."

सुभाष ने बताया कि उन्होंने 15-20 दिन का समय लिया ये सोचने में कि क्या उनके पास कोई कहानी है और अगर नहीं है तो फिर कोई वजह नहीं है कि वो ये फिल्म करें.

जॉली मेरा दोस्त है

न्यायप्रणाली की पृष्ठभूमि पर आधारित फिल्म 'जॉली एलएलबी' के बारे में सुभाष कहते हैं, "इस फिल्म के विचार की पैदाइश दिल्ली में हुई जब मैं पत्रकारिता कर रहा था और कुछ ख़बरों के सिलसिले में मुझे कोर्ट जाना पड़ता था. फिल्मों में जो अदालतें दिखाई जाती हैं असल कोर्ट के हाल उससे बहुत अलग हैं. तब सोचा कि क्यों नहीं कोई अदालतों की हक़ीकत को फिल्म में दिखाता है."

जहां तक जॉली नाम की बात है तो सुभाष ने बताया कि उनके एक वकील दोस्त हैं जिनका नाम गिरीश शर्मा है और वो दिल्ली में रहते हैं. क्योंकि वो काफी हंसी मज़ाक करते हैं इसलिए उन्हें सब जॉली बुलाते हैं.

सुभाष बताते हैं कि अपनी फिल्म की रिसर्च के लिए वो कई बार अपने जॉली दोस्त के साथ कोर्ट रूम जाते थे और वहां के माहौल को देखते थे लेकिन फिल्म की कहानी किसी असल किरदार पर आधारित नहीं है.

बीबीसी की ख़्वाहिश

फिल्मों से पहले पत्रकारिता कर रहे सुभाष ने बताया कि वो बहुत शिद्दत से बीबीसी में काम करना चाहते थे जिसके लिए उन्होंने तीन बार अर्ज़ियां भी दीं लेकिन कुछ वजहों से उनका चयन नहीं हो पाया.

सुभाष के अनुसार बीबीसी में पत्रकारिता का एक स्तर है और उन्हें लगता था कि ऐसी जगह काम करने से उन्हें काफी कुछ सीखने को मिलेगा.

फिलहाल वो अपनी फिल्मों की बदौलत ध्यान बटोर रहे हैं और सबकी निगाहें टिकी हैं उनके निर्देशन में बनने वाली 'मुन्नाभाई चले दिल्ली' पर.

उनकी नई फिल्म जॉली एलएलबी में अरशद वारसी और बमन ईरानी मुख्य भूमिका में हैं और ये 15 मार्च को रिलीज़ होगी.

संबंधित समाचार