BBC navigation

एक से दो होने में बड़ा मज़ा है: विद्या बालन

 मंगलवार, 15 जनवरी, 2013 को 09:17 IST तक के समाचार
विद्या बालन,अभिनेत्री

विद्या बालन ने चौथी बार सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के लिए स्क्रीन अवार्ड जीता है.

गुजरे साल की फिल्म 'कहानी' के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का स्क्रीन अवार्ड जीतने वाली अभिनेत्री विद्या बालन कहती हैं कि यह वक्त औरतों का है.

एक अवार्ड कार्यक्रम में मीडिया से मुखातिब विद्या कहती हैं, "ये टाइम है जब हमें नारीत्व की खुशी मनानी चाहिए. ये वक्त है जब हमें शादीशुदा औरतों की भी सराहना करनी चाहिए. अब महिला हर रूप में, हर उम्र में राज करने वाली हैं. मुझे लगता है ये नारी-शक्ति का दौर है."

अपनी शादी के बारे में जिक्र करते हुए विद्या कहती हैं, "अभी एक महीना भी नहीं हुआ, इसलिए मैं ये नहीं कहूंगी कि शादी के बाद ज़िंदगी बदल गई है. बदलाव अगर हुआ भी है तो फिलहाल महसूस नहीं हो रहा है. एक से दो होने में बड़ा मज़ा है."

"अभी एक महीना भी नहीं हुआ इसलिए मैं ये नहीं कहूंगी कि शादी के बाद ज़िंदगी बदल गई है. बदलाव अगर है भी तो फिलहाल महसूस नहीं हो रहा है. एक से दो होने में बड़ा मज़ा है."

विद्या बालन, अभिनेत्री

कार्यक्रम में विद्या साड़ी और पारंपरिक गहनों में नज़र आई. शादी के बाद भी फिल्मों में बने रहने के इरादे को दोहराते हुए विद्या ने कहा, "मैं फिल्मों को क्यों छोड़ दूंगी, मैं तो 80 साल तक कैमरा फेस करना चाहूंगी."

इन सबके बीच जब एक पत्रकार ने विद्या से उनके परिवार नियोजन के बारे में बात की तो विद्या ने हंसते हुए कहा "अभी मेरी शादी को एक महीना भी नहीं हुआ और आप मेरी फैमिली प्लानिंग के बारे में सोच रहे हैं."

अवार्ड के बारे में बात करते हुए विद्या कहती हैं, "हर तारीफ स्पेशल होती है और हर अवार्ड उस तारीफ को यादगार बनाता है क्योंकि उस अवार्ड को सालों बाद भी देखकर आप खुश हो सकते हैं कि इस काम को लोगों ने सराहा था."

पिछले चार साल से विद्या सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का स्क्रीन पुरस्कार जीत रही है.

बीते साल ही 14 दिसंबर को विद्या बालन और निर्माता सिद्धार्थ रॉय कपूर परिणय सूत्र में बंधे थे.

इसे भी पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.