BBC navigation

क्या डरा पाएगी राज 3?

 शनिवार, 8 सितंबर, 2012 को 08:10 IST तक के समाचार
बिपाशा बसु

क्या दो अभिनेत्रियां दोस्त हो सकती हैं. कम से कम भारतीय सिनेमा में इसका उदाहरण देखें तो ज्यादातर लोगों का जवाब होगा - 'नहीं.'

दरअसल भारतीय फिल्मों का जो कल्चर है, जिस तरह की फिल्में बनती हैं उस हिसाब से एक अभिनेत्री का करियर, एक अभिनेता की तुलना में बेहद छोटा होता है. हां अगर अभिनेत्रियां मां या भाभी के नॉन ग्लैमरस रोल करने के लिए तैयार हो जाएं तो बात अलग है.

विक्रम भट्ट निर्देशित फिल्म राज़ 3 की थीम है दो अभिनेत्रियों के बीच की प्रतिस्पर्धा.

एक स्थापित अभिनेत्री, जो एक नवोदित अभिनेत्री के आने से खतरा महसूस करती है और फिर उसे रास्ते से हटाने के लिए हर तरह के हथकंडे इस्तेमाल करती है. इसके लिए वो काले जादू का भी सहारा लेती है.

"फिल्म में कई बेहतरीन स्पेशल इफेक्ट्स हैं जिनसे आप अगर ना भी डरें तो भी ये दृश्य आपको दिलचस्प जरूर लगेंगे. लेकिन ऐसा लगता है कि निर्देशक विक्रम भट्ट तय नहीं कर पाए कि कहानी आगे कैसे बढ़ाएं."

अर्णब बनर्जी, फिल्म समीक्षक

शिनाया (बिपाशा बसु) एक बेहद महत्तवाकांक्षी अभिनेत्री है. वो अपनी चोटी की पोज़ीशन बरकरार रखने के लिए किसी भी हद तक जा सकती है. वो हर कीमत पर सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का पुरस्कार जीतना चाहती है.

एक तांत्रिक उसे बताता है कि उसे साल 2012 का बेस्ट एक्ट्रेस का अवॉर्ड जरूर मिलेगा. और उससे ये पुरस्कार कोई नहीं छीन सकता. लेकिन जब ये अवॉर्ड एक नई अभिनेत्री संजना (ईशा गुप्ता) को मिल जाता है, तो शिनाया इसे बरदाश्त नहीं कर पाती और हर कीमत पर उससे 'बदला' लेना चाहती है.

बिपाशा सेक्सी लगी हैं लेकिन उनकी संवाद अदायगी में दम नहीं है.

वो किसी भी सूरत में अपनी खोई हुई पोज़ीशन वापस पाना चाहती है. यहां तक कि वो अपने ब्वॉयफ्रेंड आदित्य अरोरा (इमारन हाशमी) की भी कोई बात नहीं सुनती. आदित्य एक फिल्म निर्देशक भी हैं.

शिनाया, संजना (जो कि उसकी सौतेली बहन भी है) को रास्ते से हटाने के लिए काले जादू का सहारा लेती है.

उसके बाद फिल्म में काले जादू की भयावहता पेश करने डरावने दृश्य दिखाने की कोशिश की गई है जो विक्रम भट्ट की फिल्मों की खासियत होती है.

फिल्म में दिलचस्प मोड़ तब आता है जब शिनाया अपने ब्वॉयफ्रेंड आदित्य को समझाती है कि वो संजना को अपनी अगली फिल्म में कास्ट करे.

शिनाया के इरादे खतरनाक है. वो ईशा को फिल्म दिलाने के बहाने उस पर 'शैतानी ताकतों' का इस्तेमाल करके उसका करियर तबाह करना चाहती है.

वो तरह तरह के हथकंडे अपनाकर संजना की इमेज मीडिया के जरिए गिराने की कोशिशें करती है और काफी हद तक कामयाब भी होती है.

लेकिन अपनी प्रेमिका के इन हरकतों की वजह से उसका ब्वॉयफ्रेंड आदित्य उससे दूर होता चला जाता है और उसे संजना से प्यार हो जाता है.

फिल्म में ईशा गुप्ता और इमरान हाशमी की भी मुख्य भूमिका है.

फिल्म पूरी तरह से बिपाशा और उसके बदले की कहानी पर आधारित है.

फिल्म थ्री डी कैमरे के जरिए शूट की गई है. फिल्म में कई बेहतरीन स्पेशल इफेक्ट्स हैं जिनसे आप अगर ना भी डरें तो भी ये दृश्य आपको दिलचस्प जरूर लगेंगे.

फिल्म देखकर लगता है कि विक्रम भट्ट तय नहीं कर पाए कि कहानी आगे कैसे बढ़ाएं.

बिपाशा फिल्म में काफी सेक्सी लगी हैं. हिंदी फिल्म इंडस्ट्री में वो उन चंद अभिनेत्रियों में हैं जिनके पास कमाल का फिगर है. लेकिन क्या वो उतना अच्छा अभिनय भी कर पाई हैं.

राज 3

बेहतर होगा कि वो अपनी हिंदी पर काम करें. साथ ही सिर्फ ग्लैमरस दिखने के अलावा अपने अभिनय पर भी काम करें.

इमरान हाशमी भी पूरी फिल्म में संवाद अदायगी के साथ संघर्ष करते नजर आए. ईशा गुप्ता फिल्म में सेक्सी लगी हैं.

फिल्म में इमरान हाशमी हैं तो इसमें बोल्ड और किसिंग सीन का होना तो लाजमी है. उनके प्रशंसक इस मामले में राज 3 से निराश नहीं होंगे.

राज 3

  • कलाकार: बिपाशा बसु, इमरान हाशमी, ईशा गुप्ता
  • निर्देशक: विक्रम भट्ट
  • रेटिंग: **

फिल्म में बिपाशा के साथ उनका एक बेहद उत्तेजित किसिंग सीन भी है जो ऐसा लगता है जैसे सिर्फ पॉपुलर डिमांड को पूरा करने के लिए फिल्म में ठूंसा गया है. फिल्म में ईशा गुप्ता और इमरान का भी एक किसिंग सीन है जो उतना प्रभावी नहीं बन पड़ा है.

फिल्म में जीत गांगुली, मिथुन और राशिद का संगीत है, जो बेहद कमजोर है. फिल्म में एक भी ऐसा गीत नहीं है जो आपको गुनगुनाने पर मजबूर कर दे.

तंत्र विद्या के नाम पर उल्टे सीधे जादू-टोने दिखाकर लोगों को डराने की कोशिश बड़ी हास्यापद नजर आती है.

अगर विक्रम भट्ट इंसान के मनोविज्ञान ऐसी तनावपूर्ण, मनोवैज्ञानिक दबावों से इंसान के जूझने वाली कहानियों की फिल्में बनाना बंद कर देंगे तो ये बड़ा स्वागत योग्य कदम होगा और मुझ जैसे फिल्म समीक्षक का काम भी काफी आसान हो जाएगा.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.