BBC navigation

रहमान, रेशमिया के गाने भी ठुकराए: सोनू निगम

 शुक्रवार, 17 अगस्त, 2012 को 13:18 IST तक के समाचार
सोनू निगम

मशहूर गायक सोनू निगम की आवाज उनके प्रशंसकों को इन दिनों ज्यादा सुनने को नहीं मिल रही है. फिल्मों में वो यदा-कदा ही गाते हैं. कई दिनों बाद उनकी आवाज फिल्म जोकर के एक गाने में सुनाई पड़ेगी.

फिल्मी गानों से ये बेरुखी क्यों. इसके जवाब में सोनू निगम कहते हैं, "मुझे लगता है कि मैंने बहुत गा लिया. अब 35 सालों से मैं गा रहा हूं. टीवी शो किए, कॉन्सर्ट्स किए. अब जो अच्छा काम मिलेगा वही करूंगा. कोई ऐसा-वैसा काम अब से बिलकुल नहीं."

सोनू निगम मौजूदा दौर के कई कथित द्विअर्थी और बेतुके गानों से खुश नहीं है, इसलिए वो ज्यादा गाने नहीं गा रहे हैं.

रेशमिया, रहमान को इनकार किया

सोनू कहते हैं, "मैंने करियर की शुरुआत में जरूर ऐसे कुछ गाने गाए जिनमें द्विअर्थी शब्द थे. लेकिन उस वक्त मेरे हाथों में कोई ताकत नहीं थे. मैं इंडस्ट्री में नया-नया था. मुझे काम की तलाश थी. मैंने एक गाना गाया था, तेरा पांव भारी हो गया. गाने में खासे अश्लील शब्द थे. लेकिन अब मैं परिपक्व हो चुका हूं. एक गायक के तौर पर स्थापित हो चुका हूं. अब मैं ऐसे गाने मना कर सकता हूं. एक कलाकार को कई बार अपने आप पर अंकुश लगाना जरूरी हो जाता है."

सोनू निगम ने बताया कि कुछ साल पहले हिमेश रेशमिया ने उन्हें एक गाने की रिकॉर्डिंग के लिए बुलाया लेकिन गाने के बोल उन्हें 'अश्लील' लगे तो उन्होंने गाना गाने से इनकार कर दिया. तब हिमेश ने उनसे कहा, "आपके इनकार ने मेरी भी हिम्मत बढ़ा दी और मैं भी अब इस गाने को रिकॉर्ड नहीं करूंगा."

"मैंने करियर की शुरुआत में जरूर ऐसे कुछ गाने गाए जिनमें द्विअर्थी शब्द थे. लेकिन उस वक्त मेरे हाथों में कोई ताकत नहीं थे. मैं इंडस्ट्री में नया-नया था. लेकिन अब मैं परिपक्व हो चुका हूं. एक गायक के तौर पर स्थापित हो चुका हूं. अएक कलाकार को कई बार अपने आप पर अंकुश लगाना जरूरी हो जाता है."

सोनू निगम, गायक

सोनू ने ये भी बताया कि उन्होंने एआर रहमान के लिए भी फिल्म रोबोट का एक गाना गाने से इसलिए इनकार कर दिया था क्योंकि उन्हें गाने के बोल 'बेतुके' लगे.

'अब बहुत विकल्प हैं'

अपने करियर पर नजर डालते हुए सोनू निगम कहते हैं कि फिल्म बॉर्डर के गाने संदेशे आते हैं ने उनके करियर की दिशा बदल दी. इसी गाने ने उन्हें बॉलीवुड में बतौर प्लेबैक गायक के तौर पर स्थापित करवा दिया.

सोनू ये भी कहते हैं जब उन्होंने अपना करियर शुरू किया तो किसी गायक के लिए रोजी रोटी कमाने का एकमात्र जरिया फिल्मों में गाना ही होता था. लेकिन अब जमाना बदल चुका है.

"अब गायक कॉन्सर्ट्स और प्राइवेट एलबम्स के जरिए भी अपना पसंदीदा काम कर सकते हैं, जो उन्हें रचनात्मक संतुष्टि और पैसे दोनों दे सकता है. इसलिए अब मैं फिल्मों में वही गाने गाता हूं जो मुझे अच्छे लगते हैं और संतुष्टि देते हैं. मैं जानते-बूझते किसी घटिया और बेतुके गाने का हिस्सा नहीं बन सकता."

सोनू निगम ने गाने के अलावा कुछ हिंदी फिल्मों में अभिनय भी किया लेकिन बतौर एक्टर उनका करियर ज्यादा नहीं चल पाया.

उन्होंने सिंगिग रियलिटी शो सारेगामा की मेजबानी भी की. वो इंडियन आयडल जैसे शो के जज भी रह चुके हैं.

सोनू फिल्मफेयर अवॉर्ड्स के अलावा फिल्म कल हो ना हो के टाइटल ट्रैक के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार भी जीत चुके हैं.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.