BBC navigation

ब्यूटी क्वीन बनने की तैयारी कराते ये स्कूल

 शुक्रवार, 17 अगस्त, 2012 को 10:57 IST तक के समाचार
मिस वेनेज़ुएला 2012 की प्रतियोगी

वेनेज़ुएला की युवतियां ही नहीं बल्कि बहुत से माता-पिता भी चाहते हैं उनकी बेटियां सौंदर्य प्रतियोगिता जीतें.

हाल में ख़त्म हुए लंदन ओलंपिक में वेनेज़ुएला ने भले ही सिर्फ़ एक पदक जीता हो लेकिन बात अगर सौन्दर्य प्रतियोगिताओं की हो, तो निश्चित तौर पर ये दक्षिण अमरीकी देश दुनिया में शीर्ष पर रहेगा.

अब तक वेनेज़ुएला की छह युवतियां मिस यूनिवर्स का ख़िताब जीत चुकी हैं. इससे ज़्यादा ख़िताब केवल अमरीका ने जीते हैं.

वेनेज़ुएला में लोग सौंदर्य प्रतियोगिताओं को कितनी गंभीरता से लेते हैं ये इस बात से पता चलता है कि सफलता पाने के लिए छोटी उम्र में ही लड़कियां विशेष स्कूलों में प्रशिक्षण लेती हैं.

बीबीसी संवाददाता साराह ग्रैंजर, वेनेज़ुएला की राजधानी कैरेकस-स्थित 'जिसेल्स' नाम के ब्यूटी स्कूल पहुंची. जिसेल्स वेनेज़ुएला के सबसे मशहूर ब्यूटी स्कूलों में से एक है.

जिसेल्स की स्थापना जिसेल रेयेस ने की थी जो ख़ुद एक पूर्व ब्यूटी क्वीन हैं.

वे बताती हैं, "अपने परिवार में हम हमेशा मॉडलिंग और सौंदर्य प्रतियोगिताओं की बात करते रहते हैं मसलन, वो सौंदर्य प्रतियोगिता किसने जीती, क्या तुमने वो फैशन शो देखा, चलो उस प्रतियोगिता या शो को देखने चलते हैं. हम ऐसे ही बात करते हैं क्योंकि हमने बचपन से इसी परिवेश में पले-बढ़े हैं. ये ऐसा ही है जैसे डॉक्टर के बच्चे बड़े होकर डॉक्टर बनना चाहते हैं."

छोटी उम्र से ही शुरुआत

वेनेज़ुएला की युवतियां ही नहीं बल्कि बहुत से माता-पिता भी चाहते हैं उनकी बेटियां सौंदर्य प्रतियोगिता जीतें और कम उम्र में कुछ भी सीखने में आसानी होती है.

"ज़्यादातर लड़कियां बहुत कम उम्र में ही यहां आ जाती हैं क्योंकि उनके मां-बाप चाहते हैं कि वे ब्यूटी क्वीन बनें. हमारे यहां चार साल की नन्हीं उम्र तक की बच्चियां भी आती हैं. "

जिसेल रेयेज़, पूर्व ब्यूटी क्वीन और संस्थापक, जिसेल्स.

जिसेल कहती हैं, "ज़्यादातर लड़कियां बहुत कम उम्र में ही यहां आ जाती हैं क्योंकि उनके मां-बाप चाहते हैं कि वे ब्यूटी क्वीन बनें. हमारे यहां चार साल की नन्हीं उम्र तक की बच्चियां भी आती हैं. चार से 11 साल तक की बच्चियां होती हैं या फिर 15, 16, 17 साल की बच्चियां. लेकिन मिस वेनेज़ुएला प्रतियोगिता में हिस्सा लेने की सही उम्र 18 से 23 या 24 साल होती है."

जिसेल की 21-वर्षीय भतीजी एंद्रीया रेयेस ने भी छोटी उम्र से ब्यूटी क्वीन बनने की तैयारी शुरु कर दी थी. इसके लिए एंद्रिया ने कैटवॉक, उच्चारण और मेकअप आदि का प्रशिक्षण लेना शुरु कर दिया था.

एंद्रिया कहती हैं, "मिस वेनेज़ुएला में हिस्सा लेने के लिए कम-से-कम 1.7 मीटर या पांच फ़ीट आठ इंच होना ज़रूरी है और मेरी लंबाई 1.69 मीटर है. इसलिए मैं इस प्रतियोगिता में हिस्सा नहीं ले सकती. लेकिन 15 साल की उम्र तक मैंने बहुत कुछ सीख लिया था, इतना कि मैं दूसरों को प्रशिक्षण दे सकूं. इसलिए 15 साल की उम्र में मैंने छोटी लड़कियों को सीखाना शुरु किया और अब युवतियों को सीखाती हूं."

सफलता के गुण और गुर

सौंदर्य प्रतियोगिता में सफलता पाने के लिए केवल लंबाई ही काफ़ी नहीं होती.

वेनेज़ुएला की एलिसिया मचाडो, पूर्व मिस युनिवर्स

पूर्व मिस युनिवर्स, वेनेज़ुएला की एलिसिया मचाडो. वेनेज़ुएला में कई ऐसे ख़ास स्कूल हैं जहां सौंदर्य प्रतियोगिताओं में सफल होने के नुस्खे सिखाए जाते हैं.

जिसेल के मुताबिक एक ख़ास लंबाई के साथ समर्पण की भावना होना, बहुत ज़्यादा पतला होना, रनवे पर सही तरह से चलने की कला, सही रवैया और अच्छी शिक्षा का होना भी ज़रूरी है.

तो आखिर इतने सालों की मेहनत के बाद आखिर कितनी युवतियों को सफलता मिलती है?

जिसेल बताती हैं, "मैं हर चार महीने में बीस लड़कियों के आठ समूहों को ट्रेन करती हूं. हर ग्रुप में सिर्फ़ एक या दो लड़कियों में मिस वेनेज़ुएला बनने के सभी गुण होते हैं."

यानी ज़्यादातर लड़कियों के सौंदर्य प्रतियोगिताओं और मॉडलिंग की दुनिया में सफल होने की बहुत कम गुंजाइश होती है. इसके बावजूद ये निराश नहीं होती.

पंद्रह वर्षीय नतालिया कहती हैं कि उन्होंने जिसेल्स में दाखिला मेकअप, मॉडलिंग और इस करियर के बारे में ज़्यादा जानकारी हासिल करने के लिए लिया है.

वे कहती हैं, "मैं मॉडलिंग करना चाहूंगी क्योंकि मुझे लगता है कि मुझमें मॉडल बनने के सभी गुण हैं. मेरे माता-पिता इसमें मेरा साथ दे रहे हैं क्योंकि वो जानते हैं ये मुझे पसंद है. इसीलिए उन्होंने मुझे यहां भेजा है."

सिर्फ़ वेनेज़ुएला ही नहीं, बल्कि आंखों में मिस यूनिवर्स बनने के सपने लिए कई और देशों की युवतियां भी यहां प्रशिक्षण लेने आती हैं.

"मैं इन लड़कियों से कहती हूं कि वो मॉडलिंग को महज़ शौक की तरह लें, उनके पास और भी विकल्प हैं और उन्हें कुछ और पढ़ाई भी करनी चाहिए या सीखना चाहिए."

जिसेल रेयेज़, संस्थापक, जिसेल्स (ब्यूटी स्कूल)

इन्हीं में से एक हैं अरूबा की 18 वर्षीय समांथा. नौ वर्ष की उम्र से मॉडलिंग कर रहीं समांथा मिस अरूबा का ख़िताब जीत कर मिस यूनिवर्स में हिस्सा लेना चाहती हैं. वे मानती हैं कि इसकी तैयारी में वेनेज़ुएला के ब्यूटी स्कूल काफ़ी मददगार साबित होते हैं.

और भी हैं राहें

जिसेल रेयेस कहती हैं कि सभी लड़कियों में ब्यूटी क्वीन या मॉडल बनने के गुण नहीं भी होते, तब भी उनके प्रशिक्षण से इन लड़कियों को अपनी निजी ज़िंदगी को बेहतर बनाने में मदद मिलती है.

और वो लड़कियां जिनकी सिर्फ़ मॉडलिंग में ही दिलचस्पी होती है, उनके लिए जिसेल की एक सीख है.

सोशल कम्यूनिकेशन की पढ़ाई करने वाली जिसेल कहती हैं, "मैं इन लड़कियों से कहती हूं कि वो मॉडलिंग को महज़ शौक की तरह लें, उनके पास और भी विकल्प हैं और उन्हें कुछ और पढ़ाई भी करनी चाहिए या सीखना चाहिए. यहां सिर्फ़ सुंदरता या मॉडलिंग में ही करियर के ख़्वाब लेकर आने वाली लड़की, अगर मिस वेनेज़ुएला नहीं बनती, तो वो भूखी मर जाएगी."

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.