मैं सेल्समैन नहीं हूं: अमिताभ बच्चन

 शुक्रवार, 1 जून, 2012 को 10:40 IST तक के समाचार
डिपार्टमेंट

तेल से लेकर पेन तक, कार से लेकर सीमेंट तक ढेर सारे उत्पादों का प्रचार करने वाले मेगास्टार अमिताभ बच्चन मानते हैं कि वो सेल्समैन नहीं हैं.

अमिताभ बच्चन के मुताबिक वो आज के दौर में फिल्मों के जबरदस्त प्रमोशन और मार्केटिंग पर करोड़ों रुपए खर्च करने के चलन से बेहद चकित हैं.

"मैं इस तरह की मार्केटिंग करने में बिलकुल भी दक्ष नहीं हैं लेकिन बाजार के दबाव में उन्हें अनिच्छा से ऐसा करना पड़ता है."

अमिताभ बच्चन, अभिनेता

उन्होंने अपने ब्लॉग पर लिखा "लोगों का ध्यान अपनी ओर खींचने के लिए इस्तेमाल की जा रही विभिन्न तकनीकों से मैं हैरान हूं. करोड़ों रुपए यहां तक कि कई बार फिल्म के बजट के बराबर पैसा महज पहले दफ्ते दर्शकों की उपस्थिति सुनिश्चित कराने के लिए खर्च कर दिए जाते हैं."

अमिताभ बच्चन ने ऐसी ही एक घटना का जिक्र करते हुए लिखा कि जब वो रियलिटी शो बिग बॉस होस्ट कर रहे थे तो उसके एक एपिसोड में अक्षय कुमार अपनी किसी फिल्म का प्रमोशन करने के लिए आए. अक्षय कुमार उस दौरान बेहद जल्दी में थे. जब अमिताभ ने पूछा कि इतनी जल्दबाजी क्यों, तो अक्षय ने बताया कि शो के तुरंत बाद उन्हें किसी दूसरी जगह फिल्म का प्रचार करने के लिए भागना है. अक्षय ने अमिताभ से माफी मांगने के लहजे में कहा, "क्या करें सर जी. करना पड़ता है."

अमिताभ ने आगे लिखा, "मैं इस तरह की मार्केटिंग करने में बिलकुल भी दक्ष नहीं हूं लेकिन बाजार के दबाव में मुझे अनिच्छा से ऐसा करना पड़ता है."

अमिताभ ने ये भी कहा कि एक बार उन्होंने दक्षिण भारतीय सिनेमा के सुपरस्टार रजनीकांत से पूछा कि मौजूदा दौर के इस धुआंधार मार्केटिंग के चलन पर उनकी क्या प्रतिक्रिया है. तो रजनीकांत ने कहा, "अमित जी, मैं कलाकार हूं. मेरा काम है अभिनय करना. ये सब प्रमोशन करने की कतई जरूरत नहीं है. अगर फिल्म अच्छी होगी तो लोग उसे देखेंगे. अगर फिल्म में दम नहीं होगा, तो चाहे कुछ कर लो, उसे देखने दर्शक नहीं आएंगे." बस इन शब्दों के शात ही बहस का अंत हो गया.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.