BBC navigation

'शाहरुख का रवैया गैरजिम्मेदाराना'

 शुक्रवार, 25 मई, 2012 को 10:41 IST तक के समाचार
शाहरुख खान

अभिनेता शाहरुख खान का रवैया और अक्सर ही कानून से खिलवाड़ करने की उनकी आदत बेहद चिंताजनक है. ये मानना है भारत की प्रमुख तंबाकू विरोधी संस्था, नेशनल ऑर्गेनाइजेशन फॉर टोबैको इरैडिक्शन(नोट) का.

नोट के महासचिव शेखर साल्कर ने समाचार संस्था पीटीआई से कहा, "शाहरुख का आपत्तिजनक रवैया जिसके तहत वो सार्वजनिक स्थानों में धूम्रपान करते हुए अक्सर देखे जाते हैं, बेहद चिंता की बात है. क्योंकि वो एक सेलेब्रिटी हैं और उन्हें ऐसा करते हुए लाखों करोड़ों लोग देखते हैं, जिनमें से कुछ उनके नक्शे कदम पर चल सकते हैं. ये अफसोस की बात है."

"शाहरुख का आपत्तिजनक रवैया जिसके तहत वो सार्वजनिक स्थानों में धूम्रपान करते हुए अक्सर देखे जाते हैं, बेहद चिंता की बात है. क्योंकि वो एक सेलेब्रिटी हैं और उन्हें ऐसा करते हुए लाखों करोड़ों लोग देखते हैं, जिनमें से कुछ उनके नक्शे कदम पर चल सकते हैं."

शेखर साल्कर, नोट के महासचिव

साल्कर के मुताबिक हाल ही में आईपीएल 5 के एक मैच के दौरान जयपुर के सवाई मानसिंह स्टेडियम में शाहरुख खान का धूम्रपान करना उनके गैर जिम्मेदाराना रवैये को दिखाता है.

नोट के मुताबिक धूम्रपान बहुत बुरी लत है और कई बार शाहरुख खान कह चुके हैं कि वो इससे छुटकारा पाना चाहते हैं, लेकिन अब तक उस पर अमल नहीं कर पाए हैं.

जयपुर के स्टेडियम में सिगरेट पीने के मामले में जयपुर की एक स्थानीय अदालत ने शाहरुख खान को 26 मई को हाजिर होने के लिए कहा है. शाहरुख को ये नोटिस जयपुर क्रिकेट अकादमी प्रमुख आनंद सिंह की याचिका पर दिया गया है.

गौरतलब है कि नोट शाहरुख से पहले सुपरस्टार अमिताभ बच्चन पर भी केस दर्ज करा चुका है. नोट ने अमिताभ पर उनकी फिल्म 'फैमिली' के पोस्टर के जरिए धूम्रपान को बढ़ावा देने का आरोप लगाया था. हालांकि बाद में अमिताभ ने खुद अपनी गलती मानते हुए भविष्य में इसे ना दोहराने की बात कही थी.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.