BBC navigation

मैं विलेन नहीं हीरो होता - प्रेम चोपड़ा

 शुक्रवार, 9 मार्च, 2012 को 11:39 IST तक के समाचार

बॉलीवुड के यादगार खलनायक रहे प्रेम चोपड़ा कहते हैं कि फ़िल्म मेकिंग एक व्यापार है और यहां सफलता तय करती है कि आप हीरो बनेंगे या विलेन.

बीबीसी से खास बातचीत में प्रेम चोपड़ा ने अपने फ़िल्मी सफर के कई पहलुओं पर बात की.

प्रेम चोपड़ा कहते हैं.“मैंने बॉलीवुड में हीरो के तौर पर शरुआत की थी. अगर मेरी हीरो के तौर पर फ़िल्में सफल हो जाती तो मैं भी हीरो होता. लेकिन मेरी चाहत थी की मैं विभिन्न किरदार करुं और जब मैं विलेन बना तो वो फ़िल्में खूब हिट हो गई.”

प्रेम चोपड़ा कहते हैं कि उन शुरुवाती सफलताओं का असर था कि हर कोई चाहता था कि उनकी फ़िल्म में प्रेम चोपड़ा ही हो और वो भी नेगेटिव किरदार में.

हालांकि प्रेम चोपड़ा को इससे कोई शिकायत नहीं हैं. प्रेम चोपड़ा कहते हैं, “नकारात्मक किरदार करने का फायदा ये होता है कि आपका फ़िल्मी करियर बढ़ जाता है और आप लंबे समय तक काम कर सकते हैं.”

"अब लोग अभिनय को सराहते हैं. इससे पहले ठप्पा लग जाता था कि ये विलेन है विलेन के रोल में आएगा. लेकिन अब देखिए हीरो भी विलेन के रुप में दिखते हैं."

प्रेम चोपड़ा, अभिनेता

प्रेम चोपड़ा ने सिनेमा के बदलते हुए रंग पर कहा, “अब तो मैं सकारात्मक किरदार निभाने लगा हूं. अब लोग अभिनय को सराहते हैं. इससे पहले ठप्पा लग जाता था कि ये विलेन हैं विलेन के रोल में आएगा. लेकिन अब देखिए हीरो भी विलेन के रुप में दिखते हैं.”

प्रेम चोपड़ा से जब हीरो और विलेन के बीच के मिटते फर्क के बारे में पूछा गया तो प्रेम चोपड़ा ने कहा, “ विलेन का रोल ये सिद्ध करने में मददगार होता है कि क्या ये हीरो असल में हर तरह के किरदार निभा सकता है. क्या ये सिर्फ चॉकलेट हीरो टाइप के रोल ही कर सकता है या असल किरदार भी निभा सकता है.”

प्रेम चोपड़ा कहते हैं कि अब हीरो जब से विलेन बनने लगा है तब से ये दिखाया जाने लगा है कि किन परिस्थितियों में हीरो विलेन बना है. लेकिन पहले तो सिर्फ दिखाया जाता था कि ये विलेन हैं और ये विलेन कैसे बना ये कहीं नहीं बताया जाता था.

प्रेम चोपड़ा कहते हैं कि अब सिनेमा बदल चुका है. अब फर्क किरदार से नहीं, सफलता से पड़ता है. बदलाव पर बोलते हुए प्रेम चोपड़ा कहते हैं कि अब तो फ़िल्म जगत काम करने की इज़्जतदार जगह हो गई हैं. अब तो बडे़ पढ़े लिखे युवा फ़िल्मों में आते हैं जो अपने काम के लिए समर्पित हैं.

प्रेम चोपड़ा कहते हैं कि उन्हें खुशी है कि उन्हें अब अलग अलग किरदार मिलने लगे हैं और लोग भी उन्हे सराहते हैं.

प्रेम चोपड़ा जल्द ही फ़िल्म 'एजेंट विनेद' में एक बार फिर नकारात्मक किरदार निभाते नज़र आएंगे. एजेंट विनोद 23 मार्च को रिलीज़ हो रही है. जिसमें सैफ़ अली खान और करीना कपूर की मुख्य भूमिका है.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.