BBC navigation

हीरो की डेट नहीं ख़ून चाहिए!

 बुधवार, 29 फ़रवरी, 2012 को 11:11 IST तक के समाचार

फ़िल्म पान सिंह तोमर के निर्देशक तिगमांशु धूलिया कहते हैं कि उन्हें इस फ़िल्म के लिए एक ऐसे हीरो की तलाश थी जो उन्हें अपनी तारीख से ज़्यादा कुछ दे सके.

मुंम्बई में पत्रकारों ने जब तिगमांशु से जानना चाहा कि इस फ़िल्म के लिए इरफ़ान ख़ान को ही क्यों लिया गया.

इस सवाल के जवाब में तिगमांशु ने कहा, “मुझे इस फ़िल्म के लिए एक्टर की सिर्फ डेट्स नहीं चाहिए थी बल्कि उसका ख़ून और पसीना भी चाहिए था. किसी बहुत बड़े स्टार को मैं ये नहीं कह सकता कि तुम मुझे अपना ख़ून दो, ये मैं इरफ़ान से कह सकता हूं.”

तिगमांशु कहते हैं कि ये फ़िल्म वाताअनुकुलित स्टूडियों में शूट नहीं हो सकती थी और किसी बडे स्टार को लेकर चंबल में जाना बड़ा जोखिम भी था.

तिगमांशु हंसते हुए कहते हैं, “चंबल में अगर आप चले जाए तो वहां दो दिन में आपकी हालत ख़राब हो जाती है. मैं किसी बडे़ स्टार को चंबल में लेकर जाता तो पता चला कि स्टार का ही अपहरण हो गया.”

तिगमांशु कहते हैं कि इरफ़ान के साथ वो पहले भी फ़िल्म बना चुके हैं और इरफ़ान ख़ान के साथ उनका तालमेल भी बेहतर हैं.

"चंबल में अगर आप चले जाए तो वहां दो दिन में आपकी हालत ख़राब हो जाती है. मैं किसी बडे़ स्टार को चंबल में लेकर जाता तो पता चला कि स्टार का ही अपहरण हो गया."

थिममांशु धूलिया

इरफ़ान की तारीफ़ करते हुए तिगमांशु कहते हैं, “इरफ़ान एक बहुत बेहतरीन अभिनेता हैं और उनसे मैं मांग कर सकता हूं कि मुझे क्या चाहिए.”

पान सिंह तोमर फ़िल्म 2 मार्च को रिलीज़ हो रही है जिसमें इरफ़ान ख़ान के साथ माही गिल भी काम कर रही हैं.

पान सिंह तोमर एक ऐसे खिलाड़ी की कहानी हैं जो सेना को छोड़कर एक डैकत बन गया था.

फ़िल्म बैडिट क्वीन के कास्टिंग निर्देशक रहे तिगमांशु कहते हैं कि बैंडिट क्वीन के लिए तैयारी करते वक्त ही उन्हें पान सिंह तोमर के बारे में पता चला था और उन्होनें फ़ैसला किया कि उनकी पहली फ़िल्म यही होगी.

लेकिन तिगमांशु को इस फ़िल्म के लिए निर्माता नहीं मिले और ये तिगमांशु की पहली फ़िल्म नहीं बना पाई.

इससे पहले तिगमांशु 2003 में फ़िल्म हासिल से अपने निर्देशन करियर की शुरुवात की और इस फ़िल्म में भी इरफ़ान ख़ान मुख्य भूमिका में थे.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.