सत्यमेव जयते-रहमान का अच्छा प्रयोग

सुपरहैवी

भारतीय संगीत की विश्व पटल पर उपस्थिति दर्ज कराने में ए आर रहमान का बड़ा योगदान रहा है.

हालांकि भारतीय शास्त्रीय, लोक और फ़िल्म संगीत संगीत, बरसों से विश्व भर में सुना और सराहा जाता रहा है लेकिन रहमान ने सामायिक अन्तर्राष्ट्रीय संगीत की मुख्य धारा का ध्यान भारतीय ध्वनियों और संगीत की ओर आकृष्ट करने में सबसे महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है.

सुपर हैवी एक नया अन्तर्राष्ट्रीय रॉक समूह है. समागम है पाँच ख्याति प्राप्त कलाकारों का. रोलिंग स्टोन के मिक जैगर, ब्रिटिश रॉक स्टार डेविड स्टीवर्ट, बॉब मार्ले के पुत्र डेमियन मार्ले, ब्रिटिश गायिका और गीतकार जोस स्टोन और ए आर रहमान.

पांचों कलाकार दो वर्ष पहले एक समूह में इकठ्ठे हुए इस मकसद के साथ कि वैश्विक स्तर पर विभिन्न संगीत और ध्वनियों के सम्मिलन से कुछ उद्देश्य-पूर्ण गीत प्रस्तुत किए जाएं.

'सत्यमेव जयते' वैश्विक रंग में रची एक अच्छी रचना है और 'सुपर हैवी' एलबम के बारे में उत्सुकता जगाने में कामयाब रही है.

पवन झा, संगीत समीक्षक

इस समूह का पहला एलबम 'सुपर हैवी' के ही शीर्षक से रिलीज़ के लिये तैयार है.

एलबम के लिये गीत तैयार करने के लिए समूह के कलाकार साल 2009 में लॉस एन्जिल्स में एकत्रित हुए थे और कुछ दिनों में मिलकर कुल पैंतीस घंटे का संगीत तैयार किया जिसमें करीब तीस गीत रिकॉर्ड किए गए.

इन्हीं तीस के करीब गीतों में से बारह गीत समूह के इस पहले एलबम में शामिल किये गये हैं.

हाल ही में एलबम के दो गीत आधिकारिक रूप से रिलीज़ हुए हैं, मिक जैगर का 'मिरैकल वर्कर' और ए आर रहमान का 'सत्यमेव जयते'.

'सत्यमेव जयते' में मुख्य स्वर हैं ए आर रहमान के और उनका साथ दिया है समूह के अन्य सदस्यों, डेव स्टीवर्ट, जोस स्टोन, डेमियन मार्ले और मिक जैगर ने.

सुपरहैवी

मिक जैगर ने संस्कृत के श्लोकों में स्वर दिया है. कुछ सुनने वालों को उनका ये प्रयोग थोड़ा अटपटा सा लग सकता है मगर रहमान ने गीत को एक वैश्विक रंग देने की बेहतर कोशिश की है.

पांचों गायकों का मेल अच्छा बन पड़ा है. गीत का आधार रॉक संगीत है और संस्कृत के श्लोकों से शुरु होकर कैरेबियन संगीत, इंग्लिश पॉप संगीत, रेग्गे संगीत से होकर गुजरता है.

संगीत पर रहमान की छाप नज़र आती है और उनका वाद्य संयोंजन असरदार है. गीत के हिंदी बोल रक़ीब आलम के हैं जो इससे पहले रहमान के लिये ब्लू, सिवाजी, स्लमडॉग मिलीनेयर आदि फ़िल्मों में गीत लिख चुके हैं.

कुल मिलाकर 'सत्यमेव जयते' वैश्विक रंग में रची एक अच्छी रचना है और 'सुपर हैवी' एलबम के बारे में उत्सुकता जगाने में कामयाब रही है.

गीत ना सिर्फ़ ए आर रहमान के प्रशंसकों को पसंद आयेगा वरन अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर लोकप्रिय होगा इसमें दोराय नहीं है.

समूह के लिये रहमान ने भारतीय रंगों में रंगा एक और गीत तैयार किया है 'माहिया'. रहमान से उम्मीद है कि 'सुपर हैवी' समूह में आने वाले समय में भारतीय संगीत में रंगे बेहतर वैश्विक गीत प्रस्तुत करेंगे.

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.