'संजय दत्त को अंडरवर्ल्ड की धमकी'

संजय दत्त

संजय दत्त पर के पाली हिल स्थित ऑफ़िस पर ताला लगा दिया गया है.

अभिनेता संजय दत्त के वकील रिज़वान मर्चेंट ने फ़िल्म निर्माता शकील नूरानी पर आरोप लगाया है कि उन्होंने अंडरवर्ल्ड के ज़रिए संजय दत्त को धमकी दिलाई.

बीबीसी से बात करते हुए रिज़वान ने कहा, "2008 में जब संजय दत्त महबूब स्टूडियो में फ़िल्म अलादीन की शूटिंग कर रहे थे, उस वक़्त एक शख़्स आया और शकील नूरानी का नाम लेकर उसने संजय दत्त को धमकी दी."

रिज़वान ने बताया कि संजय दत्त ने इसकी शिकायत क्राइम ब्रांच में करा दी जिसके बाद शकील को भी बुलाकर उनका बयान लिया गया था. दूसरी तरफ़ शकील ने इन आरोपों को बेबुनियाद क़रार दिया है.

दरअसल शकील की शिकायत के मुताबिक़ 2001 में उन्होंने संजय दत्त को अपनी फ़िल्म 'जान की बाज़ी' के लिए साइन किया था और 50 लाख रुपए दिए थे. बाद में संजय ने यह फ़िल्म छोड़ दी जिसके बाद नूरानी के अनुसार उन्हें ज़बर्दस्त घाटा हुआ.

2008 में जब संजय दत्त महबूब स्टूडियो में फ़िल्म अलादीन की शूटिंग कर रहे थे, उस वक़्त एक शख़्स आया और शकील नूरानी का नाम लेकर उसने संजय दत्त को धमकी दी.

रिज़वान मर्चेंट, संजय दत्त के वकील

उन्होंने संजय के ख़िलाफ़ इंडियन मोशन पिक्चर्स प्रोड्यूसर्स एसोसिएशन यानी इम्पा में शिकायत की और इम्पा ने नूरानी के पक्ष में फ़ैसला दिया.

इस साल अक्तूबर महीने में नूरानी ने हाई कोर्ट में अपील की थी जिसके बाद संजय की संपत्ति ज़ब्त करने का आदेश दिया गया. हाई कोर्ट के निर्देश के बाद संजय दत्त के पाली हिल सांताक्रूज स्थित ऑफिस पर ताला लगा दिया है.

शकील ने कहा, "इम्पा में मेरी शिक़ायत के बाद जब भी सुनवाई के लिए संजय दत्त को बुलाया जाता वो कभी नहीं आते. हमेशा कोई ना कोई बहाना बना देते. मैं अब हाई कोर्ट के इस फ़ैसले से बेहद ख़ुश हूं."

दूसरी तरफ़ संजय दत्त के वकील ने कहा कि हाई कोर्ट में शकील ने तथ्यों को ग़लत तरीके से पेश किया और वो इस फ़ैसले के ख़िलाफ़ हाई कोर्ट में आवेदन ज़रूर करेंगे.

रिज़वान मर्चेंट का कहना है कि जिस कार्यालय में ताला लगाने का आदेश दिया गया है वो संजय दत्त के नाम पर है ही नहीं और वो इसे पहले ही दिलनशीन संजय दत्त को बेच चुके हैं. हम आपको बता दें कि संजय दत्त की पत्नी मान्यता दत्त का नाम पहले दिलनशीन था.

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.