नहीं रुकवा पाए 'टूनपुर...' की रिलीज़ बप्पी

संगीतकार-गायक बप्पी लाहिरी

दिल्ली उच्च न्यायालय ने फ़िल्म संगीतकार बप्पी लाहिरी की वह याचिका ख़ारिज कर दी है जिसमें फ़िल्म ‘टूनपुर का सुपरहीरो’ की रिलीज़ पर रोक लगाने की मांग की गई थी.

समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार हालाँकि अदालत ने फ़िल्म के निर्माता और निर्देशक को निर्देश दिया है कि वो फ़िल्म में इस आशय का नोट लगाएं जिसमें ये स्पष्ट किया गया हो कि फ़िल्म में दिखाया गया एक कार्टून किरदार बप्पी लाहिरी पर आधारित नहीं है.

न्यायालय का ये फ़ैसला जाने-माने संगीतकार और गायक बप्पी लाहिरी की उस याचिका पर है जिसमें उन्होंने फ़िल्म की रिलीज़ पर रोक लगाने और उसके एक किरदार ‘गप्पी’ को हटाने की मांग की थी.

बप्पी लाहिरी का आरोप है कि फ़िल्म का एक कार्टून किरदार, गप्पी बाहिरी, उनपर आधारित है और इस नाम से ऐसा लगता है कि वो, यानि बप्पी लाहिरी, फ़िल्म का हिस्सा हैं.

मैं इतना वरिष्ठ संगीतकार हूं. उन्होंने मेरा मज़ाक बनाया है. उनके किरदार का नाम गप्पी बाहिरी है जो मेरे नाम का मज़ाक है. मुझे इससे बहुत कष्ट हुआ है और चोट पहुंची है. इससे मेरी छवि ख़राब हुई है. ये किरदार फ़िल्म से हटाना चाहिए और उन्हें मुझसे माफ़ी मांगनी चाहिए.

बप्पी लाहिरी

न्यायलय ने फ़िल्म के निर्माता द्वारा फ़िल्म के प्रमोशन के लिए इस किरदार पर आधारित टी-शर्ट और घड़ियां बेचने पर भी रोक लगा दी है.

आरोप

बुधवार को बप्पी लाहिरी ने मुम्बई में प्रेस कॉन्फ़्रेंस कर पत्रकारों को इस याचिका के बारे में जानकारी दी थी.

बप्पी लाहिरी ने कहा, “मैं इतना वरिष्ठ संगीतकार हूं. उन्होंने मेरा मज़ाक बनाया है. उनके किरदार का नाम गप्पी बाहिरी है जो मेरे नाम का मज़ाक है. मुझे इससे बहुत कष्ट हुआ है और चोट पहुंची है. इससे मेरी छवि ख़राब हुई है. ये किरदार फ़िल्म से हटाना चाहिए और उन्हें मुझसे माफ़ी मांगनी चाहिए.”

उन्हें इस बात पर भी आपत्ति है कि इस किरदार को बनाने से पहले निर्माता ने उनसे अनुमति नहीं ली.

हमारा किरदार गप्पी उनसे बिल्कुल अलग है. उस किरदार ने एल्विस प्रेस्ली के कपड़े और ज़ेवर पहने हैं, उसके शरीर पर जो बल्ब लगे हैं वो अमिताभ बच्चन की फ़िल्म ‘याराना’ से प्रेरित हैं. उस किरदार की प्रेरणा अंग्रेज़ी की पत्रिका ‘एस्ट्रिक्स’ है. उस किरदार की वेशभूषा, उसका व्यक्तित्व और बाकी बातों की प्रेरणा कई अलग-अलग चीज़ें हैं.

फ़िल्म के निर्देशक

बप्पी लाहिरी ने कहा, “मैंने फ़िल्म तो नहीं लेकिन विभिन्न अख़बारों में फ़िल्म के ऐड देखे हैं. कार्टून तो बप्पी लाहिरी का ही है. कपड़े, अंगूठी, कड़ा और चश्मा भी मेरे जैसा ही है. किरदार भी बांग्ला उच्चारण में ही बोल रहा है.”

किरीट खुराना, निर्देशक

लेकिन न्यायालय का आदेश आने से पहले फ़िल्म के निर्देशक किरीट खुराना ने बीबीसी से बात करते हुए बप्पी लाहिरी के आरोप को ग़लत बताया.

किरीट ने कहा, “हमारा किरदार गप्पी उनसे बिल्कुल अलग है. उस किरदार ने एल्विस प्रेस्ली के कपड़े और ज़ेवर पहने हैं, उसके शरीर पर जो बल्ब लगे हैं वो अमिताभ बच्चन की फ़िल्म ‘याराना’ से प्रेरित हैं. उस किरदार की प्रेरणा अंग्रेज़ी की पत्रिका ‘एस्ट्रिक्स’ है. उस किरदार की वेशभूषा, उसका व्यक्तित्व और बाकी बातों की प्रेरणा कई अलग-अलग चीज़ें हैं.”

अजय देवगन और काजोल की ये फ़िल्म चौबीस दिसंबर को रिलीज़ हो रही है.

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.