इरफ़ान एक नए अंदाज़ में

इरफ़ान ख़ान

इरफ़ान ख़ान एक अंग्रेज़ी टीवी श्रृंखला में नज़र आएंगे

फ़िल्म 'स्लमडॉग मिलिनेयर' की अंतरराष्ट्रीय सफलता के बाद अब अभिनेता इरफ़ान ख़ान एक अमरीकी टीवी श्रृंखला में नज़र आएंगे.

इस श्रृंखला के बारे में और जानकारी देते हुए इरफ़ान ने बताया, "इसका नाम है 'इन ट्रीटमेंट' और ये एक अमरीकी टीवी चैनल पर दिखाई जाएगी. मैं फ़िलहाल इसकी शूटिंग में व्यस्त हूं. ये मेरे लिए बहुत ही चुनौतीपूर्ण रोल है."

इरफ़ान बॉलीवुड में तो अपने सहज अभिनय के लिए जाने ही जाते हैं, वो हॉलीवुड में भारत के सबसे जाने-पहचाने चेहरों में से एक हैं. वो 2007 की हॉलीवुड फ़िल्म 'ए माइटी हार्ट' में एंजेलीना जोली के साथ काम कर चुके हैं. उसके बाद 2008 में 'स्लमडॉग मिलिनेयर' ने भी उन्हें अंतरराष्ट्रीय ख़्याति दिलाई.

इरफ़ान की चर्चित बॉलीवुड फ़िल्मों में 'लाइफ़ इन ए मेट्रो', 'न्यूयॉर्क' और 'बिल्लू' शामिल हैं.

"मुझे हॉलीवुड और बॉलीवुड दोनों ही बहुत पसंद हैं और दोनों ही जगह काम करना मुझे अच्छा लगता है. एक अभिनेता के तौर पर अलग-अलग तरह का काम करना बहुत ज़रूरी है. इसलिए मैं दुनिया के हर कोने में हर तरह का काम करना चाहूंगा."

"बॉलीवुड के बारे में सबसे मज़ेदार बात ये है कि इसमें हमेशा कठोर वास्तविकता दिखानी ज़रूरी नहीं होती. इसमें आप कल्पना की उड़ान भी भर सकते हैं और वास्तविकता को अपने अलग नज़रिए से भी देख सकते हैं. यहां हमेशा तर्क के आधार पर काम नहीं होता. इसमें भी अलग तरह का मज़ा है."

इरफ़ान की बॉलीवुड फ़िल्म 'नॉक आउट' भी रिलीज़ होने वाली है. इस फ़िल्म में इरफ़ान के अलावा संजय दत्त और कंगना रनावत भी नज़र आएंगे.

एक अभिनेता के तौर पर अलग-अलग तरह का काम करना बहुत ज़रूरी है. इसलिए मैं दुनिया के हर कोने में हर तरह का काम करना चाहूंगा.

इरफ़ान ख़ान

नॉक आउट के बारे में इरफ़ान कहते हैं कि ये भारतीय वास्तविकता और कठोर सत्य पर आधारित है.

इरफ़ान इस बात से इंकार करते हैं कि 'नॉक आउट' हॉलीवुड फ़िल्म 'फ़ोन बूथ' पर आधारित है.

"फ़िल्म बनाने की प्रेरणा आपको कहीं से भी मिल सकती है. 'नॉक आउट' आज के सत्य और यथार्थ पर आधारित है."

ये पूछे जाने पर कि उनके सपनों का किरदार किस तरह का होगा इरफ़ान कहते हैं कि वो ऐसे किसी एक किरदार पर यक़ीन नहीं रखते बल्कि वही करते हैं जो रोल चुनते वक़्त उन्हें सही लगे.

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.