सिनेमा का टी-ट्वेंटी

देवानंद

भारतीय सिनेमा की सर्वश्रेष्ठ बीस फ़िल्मों की तलाश शुरु हो गई है. गोवा में 23 नवंबर से आरंभ हो रहे भारत के 40 वें अंतरराष्ट्रीय फ़िल्म समारोह के प्रचार के लिए ये अभियान चलाया गया है.

दरअसल ये एक दिलचस्प प्रतियोगिता है. फ़िल्म प्रेमियों को प्रतियोगिता में हिस्सा लेने के लिए एक वेबसाइट पर जाना होगा, जहाँ वो अपनी पसंदीदा फ़िल्मों की सूची रख सकते हैं.

दस भारतीय फ़िल्म निर्देशक और दस फ़िल्म समीक्षक भी अपनी बीस पसंदीदा फ़िल्मों की सूची तैयार करेंगे. और फिर ‘मास्टर च्वाइस’ नाम की एक लिस्ट बनाई जाएगी.

बीस ऐसे फ़िल्म प्रेमियों को जिनकी सूची इस ‘मास्टर च्वाइस’ से मिलेगी उन्हें गोवा में भारते के अंतरराष्ट्रीय फ़िल्म समारोह के दौरान 30 नवंबर को पुरस्कृत किया जाएगा.

इस चयन प्रक्रिया में देश के कई चोटी के फ़िल्म निर्देशक और समीक्षक शामिल हैं

एंटरटेनमेंट सोसाइटी ऑफ़ गोवा के इस अभियान का दिलचस्प नाम है - 'टी 20 ऑफ़ इंडियन सिनेमा'. और इसी नाम से एक वेबसाइट है जहाँ लोग अपनी पसंद बता पाएँगे.

रहस्य

बीते ज़माने के सुपरस्टार और अब भी सिनेमा में सक्रिय मशहूर देवानंद ने इस अभियान की शुरुआत की.

देवानंद और जगदीप

देवानंद और जगदीप 'टी 20 ऑफ़ इंडियन सिनेमा' के लांच पर

इस अवसर पर देवानंद ने कहा कि ये प्रयास फ़िल्मों में लोगों की दिलचस्पी और बढ़एगा. उन्होंने कहा, “ये एक रहस्य और रोमांच भरा अभियान बन सकता है. ये एक ऐसा ब्लॉकबस्टर हिट बन सकता है जो सारे देश मशहूर हो सकता है. ”

फ़िल्म अभिनेत्री दिव्या दत्ता भी इस वेबसाइट के अनावरण समारोह में मौजूद थीं.

दिव्या दत्ता ने इस कंसेप्ट के बारे में कहा, “ये बहुत कमाल का अभियान है, इससे सिनेमा में लोगो की रुचि और बढ़ेगी.”

फ़िल्म के शौकीन लोग इस वेबसाइट पर 29 नंवबर तक अपनी पसंद दर्ज कर सकते हैं. तीस नंवबर को गोवा में भारत के अंतरराष्ट्रीय फ़िल्म समारोह में इस अभियान के ज़रिए चुनी गई बीस फ़िल्मों की घोषणा की जाएगी.

BBC navigation

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.