BBC navigation

चीन की विकास दर का लक्ष्य कम

 सोमवार, 5 मार्च, 2012 को 12:04 IST तक के समाचार
चीन में संसद सत्र शुरू

चीन ने मुद्रास्फिति दर का लक्ष्य चार फीसदी निर्धारित किया है

चीन के वार्षिक संसद सत्र का उद्घाटन करते हुए प्रधानमंत्री वेन जियाबाओ ने देश की अर्थव्यवस्था के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि अगले वर्ष की विकास दर 7.5 फीसदी रहेगी.

विकास दर का ये लक्ष्य पिछले आठ सालों के 8 फीसदी लक्ष्य से कम है. चीन सरकार के वार्षिक एजेंडे में सैन्य क्षेत्र में 100 अरब डॉलर के निवेश की घोषणा भी की गई.

करीब तीन हजार सदस्यों को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री वेन जियाबाओ ने पिछले साल के रिपोर्ट कार्ड पेश किया और अगले 12 महीनों के लिए बनाए गए एजेंडा की घोषणा की.

इसमें चीन ने मुद्रास्फिति दर का लक्ष्य चार फीसदी पर निर्धारित किया है, साथ ही 90 लाख नई नौकरियां भी दिए जाने की योजना है.

आखिरी सत्र

चीन की संसद का ये सत्र दस दिनों तक चलेगा और मौजूदा नेतृत्व में आखिरी संसद सत्र है.

बीजिंग में मौजूद बीबीसी संवाददाता मार्टिन पेशन्स के अनुसार चीन की सरकार इसी संसद सत्र के माध्यम से जनता से जुड़ने की कोशिश करती है.

संवाददाता के अनुसार सत्र में मतभेद की संभावना कम है और ज्यादातर फैसलों पर पहले ही मुहर लग चुकी है.

अपने शुरुआती भाषण में वेन जियाबाओ ने कहा कि जमीन का अधिकार किसानों का जमीन-जायदाद का मालिक होने का अधिकार है और उसकी अवहेलना नहीं करनी चाहिए.

पिछले कुछ महीनों में ग्वांगडोंग के गांव वुकन में प्रदर्शनों के बाद किसानों से जुड़े कुछ मामलों ने तूल पकड़ा है.

उम्मीद की जा रही है कि संसद की इस बैठक के दौरान अपराधिक मामलों से जुड़े एक विवादित कानून में संशोधनों को मंजूरी दी जाएगी. इनमें गुप्त तरीके से संदिग्धों को हिरासत में रखने को वैधता देना शामिल है.

चीन में साल 2012 के अंत तक दस साल में एक बार होने वाला नेतृत्व परिवर्तन होना है. उम्मीद की जा रही है कि राष्ट्रपति हू जिंताओ की जगह जी जिनपिंग लेंगे.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

इसी विषय पर और पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.