BBC navigation

वैश्यावृत्ति रैकेट में सज़ा-ए-मौत

 गुरुवार, 8 दिसंबर, 2011 को 13:59 IST तक के समाचार

वांग ज़िकी को सैंकड़ों महिलाओं को वैश्यावृति में झोंकने का दोषी पाया गया था.

चीनी मीडिया के मुताबिक दक्षिण-पश्चिमी चीन के चोंगकिंग शहर में वैश्यावृत्ति के रैकेट की महिला सरगना को सज़ा-ए-मौत दे दी गई है.

वांग ज़िकी को वर्ष 2010 में सैंकड़ों महिलाओं को ब्यूटी सलून या होटलों में धोखे से बुलाकर वैश्यावृत्ति में जबरन फंसाने के जुर्म में दोषी पाया गया था.

जानकारी के मुताबिक वांग और उनकी बहन इन महिलाओं के पहचान पत्र अपने कब्ज़े में ले लेतीं या फिर उनके चरित्र के बारे में ग़लतफ़हमी फैलातीं.

अगस्त 2010 में वांग ज़िकी को अपराध में लिप्त संगठन चलाने के लिए सज़ा-ए-मौत सुनाई गई.

चोंगकिंग डेली अख़बार की वेबसाइट के मुताबिक वांग ज़िकी और उनकी बहन वांग वानिंग इन महिलाओं की कमाई भी अपने पास रोक लेतीं और उन्हें ग़ैरक़ानूनी ढंग से बंद रखतीं.

पिछले कुछ समय से चोंगकिंग में भ्रष्टाचार और संगठित अपराध के ख़िलाफ़ ख़ास मुहिम चलाई जा रही है.

चोंगकिंग में कम्युनिस्ट पार्टी अध्यक्ष बो ज़िलाई इसे बड़े तौर पर आगे ले जा रहे हैं.

वर्ष 2009 से चोंगकिंग में वैश्यावृत्ति का रैकेट चलाने वाले गिरोह के कई सदस्यों को मौत की सज़ा सुनाई गई है.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

इसी विषय पर और पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.