ग्रीस के सेक्स बाजार पर मंदी की मार

 सोमवार, 28 मई, 2012 को 08:40 IST तक के समाचार

आयोजकों के अनुसार मेले में प्रदर्शनी लगानेवालों की संख्या घटकर आधी रह गई है

ग्रीस के आर्थिक संकट ने देश में कल तक फलते-फूलते एक और उद्योग को अपनी चपेट में ले लिया है – सेक्स इंडस्ट्री.

समाचार एजेंसी रॉयटर्स की एक रिपोर्ट के अनुसार ग्रीस के लोगों ने अब उत्तेजक खिलौनों और अश्लील सामग्रियों पर खर्च करना कम कर दिया है.

इस बदलते बाजार का संकेत मिला पिछले सप्ताह एथेंस में हुए सालाना सेक्स मेले से जो इस तरह का ग्रीस का सबसे बड़ा आयोजन है.

एथेंस इरोटिक ड्रीम नामक ये मेला पाँच साल पहले शुरू हुआ था जब ग्रीस में आर्थिक बुलबुला नहीं फटा था और वहाँ सबकुछ खुशनुमा था. पहले के वर्षों में मेले ने बड़ी संख्या में लोगों को आकर्षित किया.

मगर जैसे-जैसे ग्रीस में आर्थिक संकट गहराता गया और बेरोजगारी और टैक्स में बढ़ोतरी के साथ-साथ वेतन में कटौतियाँ होने लगीं, इस सेक्स मेले में आनेवाले लोगों की संख्या कम होती गई.

रॉयटर्स के अनुसार मेले में प्रदर्शनी लगानेवालों की संख्या 2008 के मुकाबले घटकर आधी रह गई है और इस साल मात्र एक दर्जन ही स्टॉल लग सके.

मेले में जाने के लिए 15 यूरो का टिकट लगाया गया है मगर मेले के आयोजक आनेवाले लोगों की संख्या को लेकर कुछ ठीक से नहीं कह पा रहे.

आयोजक जॉर्ज क्रिसोस्पैथिस ने रॉयटर्स से कहा,"हमारे मेले में हर साल 20 से 30 हज़ार लोग आते थे, मगर इस बार कुछ कहा नहीं जा सकता."

मंदी और चिन्ता

"इन दिनों ग्राहकों की सेक्स में रूचि घट गई है, जो दूसरे हैं उनके पास हमारे सामान खरीदने के लिए पैसे नहीं हैं"

मैरियाना लेमनारू, दूकानदार

एथेंस में सेक्स शॉप यानी सेक्स संबंधी सामग्रियों की बिक्री करनेवाले दूकानों की संख्या पहले 300 से 400 के बीच थी मगर उनमें से आज मात्र एक चौथाई दूकानें खुली हैं.

मेले में दूकान लगानेवाली मैरियाना लेमनारू ने कहा,"इन दिनों ग्राहकों की सेक्स में रूचि घट गई है, जो दूसरे हैं उनके पास हमारे सामान खरीदने के लिए पैसे नहीं हैं."

ग्रीस में इस उद्योग में मुख्यतः छोटे घरेलू व्यवसायी काम करते हैं जो पूरी तरह से विदेशों से आनेवाली सप्लाई पर निर्भर रहते हैं.

कुछ निर्माता उत्तेजक कपड़े ज़रूर बनाया करते थे मगर बाहर से मिल रही प्रतियोगिता में उनका टिकना भी मुश्किल हो गया है.

ऐसे कपड़े बेचनेवाले एक दूकानदार ने कहा,"चीन और तुर्की के उत्पाद हमें मार रहे हैं."

फिलहाल इस उद्योग में कार्यरत लोगों में ग्रीस के यूरो त्यागने की आशंका से और चिन्ता बढ़ गई है.

ग्रीस में अभी अधिकतर सेक्स खिलौने जर्मनी और पोलैंड जैसे देशों से आयात किए जाते हैं और ग्रीस की मुद्रा ड्राख्मा के लौटने का मतलब होगा कि ये उत्पाद लोगों की जेब के लिए बेहद भारी हो जाएँगे.

एक महिला दूकानदार डोनैटोस पसारिस कहती हैं,"हालत बहुत खराब है दोस्त, एक वाइब्रेटर जो अभी 20 यूरो में मिलता है, उसका दाम 50 यूरो तक हो जा सकता है."

फिल्में

"हालत बहुत खराब है दोस्त, एक वाइब्रेटर जो अभी 20 यूरो में मिलता है, उसका दाम 50 यूरो तक हो जा सकता है"

डोनैटो पसारिस, दूकानदार

ग्रीस में एक समय एडल्ट फिल्में बनाने की एक छोटी मगर सफल इंडस्ट्री थी जिसमें लगभ 1000 लोग काम करते थे.

80 के दशक में ग्रीस के दूर-दराज के इलाकों में बनाई गई फिल्में अंग्रेज़ी में डब कर निर्यात भी की जाती थीं.

मगर इंटरनेट के प्रसार और पूर्वी यूरोप के देशों की फिल्मों के कारण ग्रीस के इस फिल्मोद्योग का भी चेहरा बदल गया.

जॉर्ज क्रिसोस्पैथिस कहते हैं,"आज ग्रीस में इन फिल्मों में काम करनेवाले सात कलाकारों में से पाँच हंगरी के हैं."

इसके अलावा ग्रीस में सेक्स दूकानों को अभी भी उस तरह से सामाजिक मान्यता नहीं मिली है जैसी कि दूसरे पश्चिमी देशों में जहाँ मुख्य इलाकों में सेक्स दूकान दिखा जाया करते हैं.

इसके उलट ग्रीस में इस तरह की लगभग सारी दूकानें गंदे और कम विकसित इलाकों में स्थित हैं.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.